ईरान में कोविड-19 संक्रमण के मामलों में उछाल, एक हफ्ते के लिए लगाया गया सख्त लॉकडाउन

दुबई,रॉयटर्स: ईरान में कोविड-19 संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि जारी है। देश में कोरोना की पांचवी लहर के कारण मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। इस बीच संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए एक हफ्ते के सख्त लॉकडाउन की घोषणा की गई है। इस दौरान सड़क यातायात पूरी तरह से प्रतिबंधित होगा। साथ ही सभी गैर-आवश्यक व्यवसाय और कार्यालय सोमवार से 21 अगस्त तक देशव्यापी लॉकडाउन के तहत बंद रखने के आदेश जारी किए गए हैं।

यातायात प्रतिबंधित

देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर अधिकारिक वाहनों को छोड़कर, रविवार से 27 अगस्त तक सभी तरह के यातायात पर भी प्रतिबंध लगाए गए हैं। राष्ट्रीय कोरोनावायरस टास्क फोर्स के प्रवक्ता अलीरेज़ा रायसी ने बताया कि, प्रतिबंध के दौरान सभी सड़के पूरी तरह से बंद रहेंगी। सिर्फ आवश्यक सामान पहुंचाने के काम में लगे वाहन और एम्बुलेंस को ही अनुमति दी गई है। सभी वाहनों पर सख्ती से प्रतिबंध लागू किए गए हैं।

संक्रमण में लगातार वृद्धि

देश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को संक्रमण के कुल 29,700 नए मामलों के साथ 466 दैनिक मौतें की सूचना दी है। जो कि, सोमवार को दर्ज की गई 588 मौतों के रिकॉर्ड दैनिक आंकड़ों से कम है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, देश में कोरोना संक्रमण के कारण कुल मौतें की संख्या बढ़कर 97,208 हो गई है।

सुस्त टीकाकरण

गौरतलब है कि, देश में धीमी टीकाकरण रफ्तार के लिए सरकार को लगातार आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स ने देश की सरकार पर टीकाकरण को लेकर कुप्रबंधन के आरोप लगाए हैं। ईरान की कुल 8करोड़ 30लाख की आबादी में अब तक महज 38लाख लोगों का ही टीकाकरण पूरा हो सका है। टीकाकरण की धीमी रफ्तार को लेकर देश के अधिकारियों में अमेरिका को दोषी ठहराया है। एक बयान में बताया गया है की, विदेशी टीकों को खरीदने के प्रयासों में बाधाएं और उनकी डिलीवरी में देरी अमेरिकी प्रतिबंधों का ही नतीजा है। जिसके चलते टीकाकरण की रफ्तार पर विपरीत असर पड़ रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 15 =