एचडीएफसी बैंक ने 3-4 तिमाहियों में क्रेडिट कार्ड बाजार में अच्छी खासी हिस्सेदारी हासिल करने का लक्ष्य तय किया

· हर महीने 5 लाख कार्ड जोड़ने का लक्ष्य

मुंबई, 23 अगस्त, 2021- एचडीएफसी बैंक, भारत के सबसे बड़े क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता ने आज घोषणा की कि वह फरवरी 2022 से हर महीने अपने पोर्टफोलियो में पांच लाख नए क्रेडिट कार्ड जोड़ने का लक्ष्य लेकर चल रहा है। इस लक्ष्य को हासिल कर एचडीएफसी बैंक अगले 9 से 12 महीनों में भारतीय क्रेडिट कार्ड बिजनेस में अपनी बाजार हिस्सेदारी को फिर से प्राप्त कर शिखर पर होगा।

एचडीएफसी बैंक अगले 6 से 9 महीनों के अंदर नए क्रेडिट कार्ड जारी करने की गति बढ़ाने के लिए 20 से अधिक नई पहलों की शुरूआत करेगा। इन दौरान कई नए को-ब्रांडेड कार्ड्स को जारी किया जाएगा, जिनमें भारतीय कॉर्पारेट जगत की जानी मानी कंपनियां शामिल होंगी जो कि फार्मा, ट्रैवल, एफएमसीजी, हॉस्पिटैलिटी, टेलीकॉम और फिनटेक तक बिजनेस में कार्यरत हैं और एक बड़ा ग्राहक आधार रखती हैं। बैंक ने पिछले 9 महीनों में अपने कार्ड की मौजूदा रेंज में भी काफी विस्तार किया है और इस दौरान नई कंपनियों के साथ रणनीतिक साझेदारी करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

क्रेडिट कार्ड उत्पादों की नई और पहले से विस्तृत और बेहतर रेंज के साथ बड़े पैमाने पर बाजार से लेकर अल्ट्रा-प्रीमियम सेगमेंट तक सभी के लिए कुछ न कुछ होगा। ग्राहकों के लिए उनकी उभरती जरूरतों को पूरा करने के लिए तैयार उत्पाद उपलब्ध होंगे।

श्री पराग राव, ग्रुप हेड- पेमेंट्स, कंज्यूमर फाइनेंस, डिजिटल बैंकिंग एंड आईटी, एचडीएफसी बैंक ने कहा कि “पिछले कुछ महीने भविष्य के लिए खुद को तैयार करने में बिताए गए हैं। जब नियामक द्वारा कई तरह के प्रतिबंध लागू थे, तो हमने एक नई रणनीति तैयार करने के लिए उस समय का सही उपयोग किया। हमारी नई पेशकशों के साथ-साथ हमारे मौजूदा कार्ड की रेंज के साथ, हम अपने ग्राहकों की जरूरतों को पूरा करने और ’एक धमाके के साथ वापस आने’ के लिए पूरी तरह से आश्वस्त हैं।“

एचडीएफसी बैंक क्रेडिट कार्ड जारी करने और नए ग्राहक अधिग्रहण करने वाले व्यवसायों दोनों में एक मजबूत हिस्सेदारी के साथ पेमेंट ईकोसिस्टम में अग्रणी खिलाड़ी है। बैंक देश का सबसे बड़ा क्रेडिट कार्ड जारीकर्ता है, और इसने पिछले 8 महीनों में अपने नेतृत्व की स्थिति को बनाए रखा है और कार्ड पोर्टफोलियो की ताकत और अपनी सक्षमता को प्रदर्शित किया है।

कुछ प्रमुख आरबीआई डेटा बिंदु जो इस ताकत को अधिक स्पष्टता से प्रदर्शित करते हैं उनमें शामिल हैं :

· एचडीएफसी बैंक क्रेडिट कार्ड खर्च निकटतम प्रतिस्पर्धियों की तुलना में 1.5 गुना अधिक है

· एचडीएफसी बैंक के पास निकटतम प्रतिस्पर्धियों की तुलना में 1.2 गुना अधिक कार्ड हैं

· एचडीएफसी बैंक क्रेडिट प्रति कार्ड खर्च शीर्ष 6 बैंकों में सबसे अधिक है (सीआईएफ और खर्च के मामले में)

· मर्चेंट एक्वायरिंग सेक्टर में भी एचडीएफसी बैंक का काफी अधिक प्रभावशाली दबदबा है।

· आरबीआई के आंकड़ों के अनुसार, एचडीएफसी बैंक की मर्चेंट एक्वायरिंग बिजनेस में समग्र बाजार हिस्सेदारी लगातार सबसे अधिक है। जून 2021 तक बैंक के पास कुल बाजार हिस्सेदारी का 47.9 प्रतिशत था।

· फ्रैंचाइज़ी डेटा के अनुसार बैंक की बेस्ट बुक क्वालिटी है और हाईएस्ट थ्रू-पुट प्रति मर्चेंट हैं

· इसका स्मार्टहब प्लेटफॉर्म सभी मर्चेंट श्रेणियों और आकार के लिए तैयार एक एकीकृत बैंकिंग और भुगतान रेंज है

एचडीएफसी बैंक के पास लगभग 3.67 करोड़ डेबिट कार्ड, 1.48 करोड़ क्रेडिट कार्ड और लगभग 21.34 लाख एसेप्टेंस प्वाइंट्स हैं, जो इसे देश में कैशलेस भुगतान के सबसे बड़े सुविधाकर्ताओं में से एक बनाता है। 5.1 करोड़ से अधिक क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और प्रीपेड कार्ड के साथ हर बाजार वर्ग को संबोधित करते हुए, भारत में कार्ड पर खर्च किया गया हर तीसरा रुपया एचडीएफसी बैंक कार्ड पर होता है।

इसने भारत की खपत की कहानी को बढ़ाने में वर्षों से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। आने वाला त्योहारी सीजन इस भूमिका को ऐसे समय में बेहतर ढंग से निभाने में मदद करेगा, जब शायद इसकी जरूरत पहले कभी नहीं थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × two =