28 C
Lucknow
Wednesday, July 17, 2024

चेन्नई-हैदराबाद : इन पांच पलों में आया सबसे अधिक मजा

09_05_2013-sureshraina

हैदराबाद। आईपीएल 6 के 54वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाज सुरेश रैना के कड़े प्रहार से राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम थर्रा उठा। 52 गेंदों में 11 चौके और 3 छक्कों की मदद से बनाए गए नाबाद 99 रनों की बदौलत चेन्नई ने हैदराबाद को जीत के लिए 224 रनों का विशाल लक्ष्य दिया। हैदराबाद के लिए यह लक्ष्य हासिल करना काफी मुश्किल भरा काम था, नतीजतन, उनकी टीम 8 विकेट खोकर 146 रन ही बना सकी और 77 रन से मैच गंवा बैठी।

 

पूरी मैच रिपोर्ट के लिए यहां क्लिक करें

 

आइए जानते हैं इस मैच के वो पांच रोमांचक पल, जिसने ला दिया मजा :

 

1. मुरली विजय के हैट्रिक छक्के

 

दर्शक उस वक्त रोमांचित हो उठे जब चेन्नई सुपरकिंग्स के बल्लेबाज मुरली विजय ने सनराइजर्स के गेंदबाज ईशांत शर्मा के 1 ओवर में हैट्रिक छक्के जड़ दिए। मैच के पांचवें ओवर में यह कारनामा करने से पहले विजय ने 15 गेंदों का सामना कर 11 रन बनाए थे, लेकिन इस ओवर की तीसरी गेंद पर उन्होंने बैकवर्ड स्क्वायर लेग पर एक शानदार छक्का जड़ दिया। ठीक अगली गेंद पर उन्होंने लेग साइड के ऊपर से एक और जानदार छक्का जड़ दिया। ईशांत उस वक्त हताश-परेशान हो गए जब विजय ने अगली गेंद पर डीप स्क्वायर लेग के ऊपर से एक और छक्का जड़ दिया। विजय के हैट्रिक छक्के के बाद ईशांत को समझाने डेल स्टेन पहुंच गए। धीरे-धीरे अन्य खिलाड़ी भी उनके पास पहुंच गए।

 

जानिए, डेल स्टेन ने आखिर क्यों की इनाम की घोषणा

 

2. रैना को जीवनदान

 

सुरेश रैना 52 गेंदों में नाबाद 99 रन नहीं बना पाते, अगर 25 रन के निजी स्कोर पर करन शर्मा ने उनका कैच नहीं छोड़ा होता। चेन्नई की पारी के 12वें ओवर की पहली गेंद पर करन ने प्वाइंट में सुरेश रैना का एक आसान सा कैच टपका दिया। वह ओवर अमित मिश्रा कर रहे थे। इस जीवनदान का रैना ने पूरा फायदा उठाया और उसके बाद 73 रन ठोक डाले।

 

आईपीएल की और मजेदार खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

 

3. नो बॉल पर कैच छूटा

 

18वें ओवर में माइक हसी के आउट होने के बाद चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी बल्लेबाजी करने क्रीज पर आए। धौनी को परेरा ने पहली गेंद ही फुलटॉस फेंकी। गेंद धौनी के बल्ले का ऊपरी किनारा लेती हुई हवा में काफी ऊंची उठ गई, जिसे लपकने के लिए डेल स्टेन आगे आए, लेकिन उनसे कैच छूट गया। तभी ध्यान अंपायर की तरफ गया, जिन्होंने गेंद को नो बॉल करार दे दिया था। धौनी का कैच उठा तो सनराइजर्स के प्रशंसक खुशी के मारे उछल उठे और जश्न मनाने लगे, लेकिन उन्हें जीवनदान मिल गया।

 

पढ़ें : जब अचानक ही वानखेड़े 17 मिनट तक अंधेरे में डूबा रहा

 

4. करन शर्मा का कैच

 

सुरेश रैना को जीवनदान देने वाले करन शर्मा ने उस वक्त अपनी भूल सुधार ली, जब उन्होंने डीप मिडविकेट पर चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का शानदार कैच लपका। वे सीमारेखा के बिलकुल करीब थे। कैच लपककर उन्होंने किसी तरह खुद को सीमरेखा से दूर रखा और धौनी को पवेलियन लौटने पर मजबूर कर दिया।

 

पढ़ें : मनोज तिवारी के ट्वीट्स, जिसने मचा दी खलबली

 

5. अंतिम गेंद पर 5 रनों की जरूरत

 

पहली पारी की आखिरी गेंद पर ही मैच का रोमांच चरम सीमा पर पहुंच गया, क्योंकि सुरेश रैना 95 के स्कोर पर थे और उन्हें शतक पूरा करने के लिए सिर्फ 5 रनों की जरूरत थी। ऐसे में सभी की निगाहें इस बात टिकी हुई थीं कि वे छक्का लगा पाते हैं या नहीं। डैरैन सैमी ने आखिरी गेंद फुलटॉस फेंकी। रैना ने एक्स्ट्रा कवर के ऊपर से शानदार शॉट भी लगाया, लेकिन गेंद चार रनों के लिए गई और रैना शतक से सिर्फ 1 रन दूर रह गए।

 

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें