28 C
Lucknow
Thursday, July 18, 2024

दीपक भारद्वाज की बीवी और बेटे से पूछताछ

नई दिल्ली।। दिल्ली में अरबपति प्रॉपर्टी कारोबारी और बीएसपी नेता दीपक भारद्वाज की हत्या की पुलिस हर ऐंगल से जांच कर रही है। पुलिस ने अब तक इस मामले में 8 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की है। इनमें भारद्वाज की पत्नी और उनके छोटे बेटे भी शामिल हैं। पुलिस हत्यारों की पहचान पहले ही कर चुकी है। बुधवार को उसने राकेश नाम के एक आरोपी को हिरासत में भी लिया था। पुलिस को राकेश ने पूछताछ में बताया कि गोली मारने वाले पहले शूटर का नाम सुनील है, जबकि दूसरे शूटर का नाम पुरुषोत्तम है। अभी दोनों सुपारी किलर फरार हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के इस बड़े प्रॉपर्टी कारोबारी की मंगलवार को साउथ दिल्ली में उनके रिजॉर्ट में गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई थी।

पुलिस के मुताबिक, भारद्वाज की पत्नी से इसलिए पूछताछ कर रही है क्योंकि वह पिछले कुछ महीने से अपने पति से अलग द्वारका में अपने छोटे बेटे नीतेश के साथ रह रही थीं। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नीतेश ने (32) अपने पिता के खिलाफ मुकदमा दायर किया था, जिसके बाद दीपक भारद्वाज ने भी अपने बेटे के खिलाफ केस किया था। पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम जल्द ही इस हत्याकांड को सुलझा लेंगे। साथ ही पुलिस ने बताया कि पूछताछ के लिए हिरासत में लिए गए लोगों को गिरफ्तार नहीं किया गया है।
अरबपति बिल्डर दीपक भारद्वाज के मर्डर में इन्साइडर का हाथ होने के ऐंगल से जांच आगे बढ़ रही है। वारदात में यूज की गई स्कोडा कार पुलिस ने बरामद कर ली है। वारदात की सही वजह तक पहुंचने के लिए कई लोगों से पूछताछ की जा रही है। किसी भी वक्त गुत्थी सुलझ सकती है, लेकिन कुछ कारणों से पुलिस को थोड़ा इंतजार भी करना पड़ सकता है।

इस बारे में लॉ ऐंड ऑर्डर के स्पेशल कमिश्नर दीपक मिश्रा से सुबह पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि बताने के लिए अभी कुछ नहीं है। मिश्रा ने किसी गिरफ्तारी से भी इनकार किया। लेकिन, उन्होंने कहा कि कुछ ठोस लीड हैं, जिनके आधार पर जांच आगे बढ़ रही है, उम्मीद है मामला सुलझा लिया जाएगा।

सूत्रों के मुताबिक, सीसीटीवी कैमरे की तस्वीरों के आधार पर स्कोडा कार को खेड़ा गांव से जब्त कर लिया गया। यह कार नॉर्थ दिल्ली के एक बिजनेसमैन ने 15 दिन पहले बेची थी, जिस व्यक्ति ने यह कार 8 लाख रुपए में खरीदी थी, उस तक पुलिस पहुंच गई है। उसके जरिए आगे बढ़ा जा रहा है कि यह कार शार्प शूटर्स तक कैसे पहुंची? यह भी कि शूटर्स को किसने हायर किया था? इस सबके बारे में पुलिस को भनक लग रही है, लेकिन असल मोटिव को साफ करने के लिए कड़ियां जोड़ने की कोशिश हो रही है।

सिक्योरिटी गार्ड्स, अन्य कर्मचारियों से लेकर कई लोगों के बारे में छानबीन हो रही है। दीपक भारद्वाज और परिवार के लोगों के अलावा कई अन्य लोगों की भी कॉल डीटेल खंगाली जा रही है। स्कोडा कार में आए शूटरों की कॉल डीटेल से अहम चीजें हाथ लग सकती हैं।

सूत्रों के मुताबिक दीपक भारद्वाज के कई तरह के विवाद होने की जानकारी पुलिस को मिली है। उन्होंने हरिद्वार के निकट कनखल में दीप गंगा कंस्ट्रक्शन कंपनी के नाम से फ्लैट्स बनाए हैं। अब आकर उस कंपनी का नाम बदल कर ‘साउथऐंड’ कर दिया गया। इस कंपनी का ऑफिस महिपालपुर एरिया में बन रहा है। नाम क्यों बदला गया, यह भी एक ऐंगल है। महिपालपुर एरिया के कुछ प्रभावशाली लोग भी दीपक भारद्वाज से ईर्ष्या करते थे। दीपक के द्वारका में 2 स्कूल और कई और जगह बड़ी प्रॉपर्टी हैं। इस ऐंगल पर भी जांच हो रही है।

बेटे के नाम से ‘नीतेश कुंज’
कारोबारी दीपक भारद्वाज के 2 बेटे हैं। छोटे बेटे नीतेश के नाम से वह ‘नीतेश कुंज’ रिजॉर्ट है, जिसमें दीपक रहते थे और जहां उनका मर्डर हुआ। नीतेश का विवाह फिल्म स्टार शाहरुख खान की रिश्ते की साली से हुआ है।

यह रिजॉर्ट तकरीबन 200 बीघा में है। इस वक्त इस इलाके में प्रॉपर्टी की कीमत 2 लाख रुपए प्रति वर्ग गज तो मानी ही जा रही है। 200 बीघा यानी करीब 2 लाख वर्ग गज जमीन की कीमत का अंदाजा लगाया जा सकता है। इसी तरह दिल्ली के कई इलाकों और बाहर भी दर्जनों जगह काफी प्रॉपर्टी है, जिनमें बहुत-से लोग इन्वॉल्व रहे हैं और जिनके बीच में ही वारदात के मकसद के पेच हो सकते हैं। कुछ पूर्व कर्मचारियों और करीब लोगों के बारे में भी छानबीन की जा रही है।
deepak-bhardwaj_650_032813012852

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें