दूसरे चक्र में पन्द्रह केन्द्रों पर एक हजार सात सौ लोगों को लगा कोरोना से बचाव का टीका ।
सात जोन और पन्द्रह सेक्टर में बांटा गया पूरा जिला ।


सीतापुर -अनूप पाण्डेय/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर में कोविड टीकाकरण के दूसरे चक्र में शुक्रवार को जिले के पन्द्रह केन्द्रों पर चिकित्सकों, पैरामेडिकल स्टाफ, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सहित कुल एक हजार सात सौ लोगों को कोरोना से बचाव का टीका लगाया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में अधीक्षक डॉ इमरान सहित पूरा पैरामेडिकल टीम सहित
कोरोना प्रतिरक्षण टीका लगवाने के बाद हर किसी के चेहरे पर गर्वीली मुस्कान देखी गई। इस विशेष टीकाकरण अभियान के लिए पूरे जिले को सात जोन और पन्द्रह सेक्टर में बांटा गया था। हर एक जोन और सेक्टर में सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई थी। इन सभी केन्द्रों पर अब आगामी 28 और 29 जनवरी को भी टीकाकरण किया जाएगा। इन तीन दिनों में जिले के सात हजार नौ सौ दस स्वास्थ्य कर्मियों, सफाई कर्मियों, आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना से बचाव का टीका लगाने का लक्ष्य है।इस दौरान तीन दिनों में छियासी टीकाकरण सत्रों का आयोजन किया जाएगा।


टीकाकरण केन्द्र पर पहुंचने पर सबसे पहले लाभार्थी के पहचान पत्रों से सत्यापन किया गया। इसके बाद प्रतीक्षा कक्ष में लाभार्थी को बैठाया गया तथा बारी आने पर टीकाकरण कक्ष में टीका लगाया गया। टीका लगाने के बाद ऑब्जरवेशन रूम में लाभार्थियों को करीब आधे घंटे तक बैठाया गया। जहां पर 30 मिनट के भीतर टीका लगने वाले व्यक्ति पर टीके के प्रतिकूल प्रभाव पर विशेष नजर रखी गयी। इसके लिए एक स्पेशलिस्ट टीम तैनात थी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. मधु गैरोलो ने बताया, कि जिन लोगों की दवा या किसी प्रकार के खाने की ऐलर्जी है वह यह टीका न लगवाएं। गर्भवती और धात्री के साथ ही ऐसी महिलाएं जिन्हें गर्भवती होने की संभावना लग रही है उनको भी यह टीका नहीं लगवाना चाहिए। जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है और इसे बढ़ाने की दवा ले रहे हैं अथवा कोई अन्य वैक्सीन ले रहे हैं, साथ ही एलर्जी, बुखार और रक्तस्राव की बीमारी से जूझ रहे मरीज और खून पतला करने की दवा ले रहे लोगों को को भी यह वैक्सीन नहीं लेनी है। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. पीके सिंह ने बताया कि कोविड टीकाकरण के बाद भी प्रत्येक व्यक्ति को नियमित रूप से मास्क का इस्तेमाल, साबुन-पानी अथवा अथवा हैण्ड सेनिटाइजर से हाथों की धुलाई करनी है, साथ ही एक-दूसरे से 6 फीट की शारीरिक दूरी का पालन करना भी जरूरी है। इसके अलावा कोरोना के लक्षण होने की आशंका पर जांच कराएं और कोरोना होने पर स्वयं को तुरन्त आइसोलेशन में रखें। कोरोना टीका करण के तहत जिला अस्पताल में तिरसठ, महिला अस्पताल में सैंतीस आंख

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र मिश्रिख में एक सौ इक्यावन, स्पताल में इक्यानवे, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सदर में चौरानबे
प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र इस्माइल पुर में चौरानबे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खैराबाद में एक सौ सत्तावन, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एलिया में एक सौ इक्कीस, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र हरगांव में एक सौ अट्ठाइस, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लहरपुर में एक सौ पच्चीस,सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र महोली में एक सौ तेरह, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पिसावा में एक सौ दस, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिधौली में इक्यानवे, बीसीएम अस्पताल खैराबाद में एक सौ चौव्वन वहीं
हिन्द अस्पताल में अटरिया में एक सौ इकहत्तर लोगों कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 13 =