28 C
Lucknow
Saturday, July 20, 2024

पूर्व सैनिकों को जंतर-मंतर से उठाना दिल्ली पुलिस को भारी पड़ा

One rank One pensionनई दिल्ली,एजेंसी-14 अगस्त। ‘वन रैंक वन पेंशन’ की मांग को लेकर जंतर मंतर पर धरने पर बैठे पूर्व सैनिकों को वहां से उठाना दिल्ली पुलिस को भारी पड़ा। पुलिस की इस कार्रवाई की चौतरफा निंदा हुई। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के अलावा, कांग्रेस के भी पूर्व सैनिकों के समर्थन में आने के दिल्ली पुलिस बैक फुट पर आ गई। इसके बाद पुलिस की ओर से प्रदर्शन को जारी रखने की इजाजत पूर्व सैनिकों में मिल गई है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, पूर्व सैनिकों के एक समूह को धरने की इजाजत शर्तों के आधार पर दी गई है। शर्त के मुताबिक, धरना स्थल पर किसी तरह का कोई हंगामा नहीं होने पाए। बताया जा रहा है कि धरने में राहुल गांधी भी शामिल हो सकते हैं।
जंतर मंतर से पूर्व सैनिकों को जबरन हटाया, दिल्ली पुलिस पर भड़के केजरीवाल स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर जंतर-मंतर को खाली कराने के दौरान पुलिस कर्मियों को पूर्व सैनिकों को विरोध का सामना करना पड़ा। हालांकि, वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर लंबे समय से जंतर-मंतर पर धरने पर बैठे पूर्व सैनिकों को वहां से हटाने में पुलिस कामयाबी रही। इसे लेकर पुलिस और पूर्व सैनिकों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई। वन रैंक वन पेंशन का प्रदर्शन जारी दिल्ली पुलिस जंतर मंतर पर प्रदर्शन पर कर रहे और संगठनों व लोगों को हटा रही है। इसके पीछे स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा को पुख्ता करने की कवायद बताया जा रहा है। गौरतलब है कि स्वतंत्रता दिवस से पहले राजधानी दिल्ली में सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं।
दिल्ली में 6,000 से ज़्यादा जवानों को तैनात किया गया है, जो चप्प-चप्पे पर नज़र रखे हुए हैं। वहीं, दिल्ली पुलिस की इस हरकत पर दिल्ली के मुख्यमंत्री ने नाराजगी जताई है। इस पर कटाक्ष करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि पूर्व सैनिकों को जबरन जंतर मंतर से बाहर फेंक दिया जा रहा है। यह दुखद है। जिन्होंने सीमा पर देश की रक्षा की वे आज सुरक्षा के लिए खतरा हो गए हैं।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें