28 C
Lucknow
Saturday, July 20, 2024

मैं निर्दोष हूं, मुझे फंसाया गया है हिरण शिकार मामले में – सलमान

दिल्ली,एजेंसी । जोधपुर में हिरण शिकार के दौरान अवैध हथियार रखने के आरोप में आम्र्स एक्ट के तहत करीब 17 वर्ष से चल रहे मामले में आज जोधपुर की अदालत फैसला सुनाएगी। इससे पहले अदालत में उन्होंने आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया था और खुद को निर्दोष बताया था। अदालत ने बयान के बाद सलमान को अपने पक्ष में कुछ तथ्य और गवाह पेश करने का अवसर दिया था। अब आज उस पर फैसला आएगा। इस मामले में अधिकतम सात साल तक की सजा का प्रावधान है।

इंडियन हूं और यही मेरी जाति है…

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (जोधपुर जिला) दलपतसिंह राजपुरोहित के सामने सलमान मुलजिम बयान के लिए जोधपुर अदालत में पेश हुए थे। हर बार की तरह इस बार भी उनकी बहन अलवीरा जोधपुर उनके साथ आई थीं। अदालत ने उनसे सीधे सवाल किए जिनके उन्होंने जवाब दिए। अदालत के उनकी जाति पूछने पर सलमान ने रुककर कहा कि वे इंडियन हैं और यही उनकी जाति है। वे जाति इंडियन लिखते हैं।

गौरलतब है कि सलमान और दो लोगों के खिलाफ फिल्म हम साथ-साथ हैं की शूटिंग के दौरान वर्ष 1998 को जोधपुर के नजदीक अलग-अलग तीन जगह हिरण शिकार के आरोप लगे और उनके होटल की तलाशी के दौरान लाइसेंस अवधि पाक की राइफल व रिवॉल्वर मिले थे। सलमान को 12 अक्टूबर, 1998 को गिरफ्तार किया गया था और पांच दिन बाद बेल मिली थी। आम्र्स एक्ट के तहत इस विचाराधीन इस मामले में धारा 3/25 में अधिकतम तीन साल और धारा 27 में अधिकतम सात साल तक की सजा का प्रावधान है। हिरण शिकार के तीन मामलों में से दो में सलमान को सजा सुनाई जा चुकी है। जबकि कांकाणी हरिण शिकार प्रकरण की सुनवाई अभी तक चल रही है। दो मामलों में सलमान को सजा, अपीलें हाईकोर्ट में लम्बित हैं।

यूं चला सवाल जवाब का सिलसिला…

इससे पहले यूं चला था सवाल जवाब का सिलसिला…
सीजेएम – अभियोजन के गवाह शिवचरण बोहरा ने यह कहा है कि एफआईआर दर्ज होते समय सलमान खान भी कमरे में मौजूद था और सलमान खान के इस पर हस्ताक्षर हैं। क्या यह सही है?
सलमान – ये बयान गलत है।
सीजेएम – गवाह उदय राघवन ने यह कहा है कि सलीम खान ने उनको (सलमान) हथियार दिए थे। पत्रावली में मौजूद जो पत्र है। वह सलमान खान ने दिया था। उस पर सलमान खान के हस्ताक्षर हैं।
सलमान – वन विभाग के अधिकारियों ने प्रेशर (दबाव) देकर उनके हस्ताक्षर करवाए थे।
सीजेएम – विजय नारायण पंडित ने यह बयान दिया है कि लाइसेंस की वैधता अवधि समाप्त होने के बाद वह वैध नहीं रहता है।
सलमान – यह कहना गलत है।
सीजेएम – ऐसा क्यों है कि सारे गवाह आपके खिलाफ बयान दे रहे हैं?
सलमान – मीडिया के दबाव के कारण वन विभाग के अधिकारियों ने मेरे खिलाफ मामला बनाया।
सीजेएम -आपको अपने बचाव में और कुछ कहना है?
सलमान – मैं पूरी तरह निर्दोष हूं। मुझे झूठा फंसाया गया है।
सीजेएम – आप अपनी सफाई में कुछ सबूत पेश करना चाहेंगे?
सलमान- हां, मैं अपनी तरफ से सबूत पेश करना चाहता हूं।
सीजेएम – मामले की अगली सुनवाई अब 4 अप्रैल को होगी। उस दिन सबूत पेश करना।

सुस्त दिखे सलमान

पहली बार अदालत में पेशी पर आए सलमान काफी सुस्त दिखे थे वो सुबह करीब 11.10 बजे अदालत पहुंचे थे और सीजएम का अभिवादन कर डायस के पास जाकर खड़े हो गए थे। अदालत परिसर में मीडिया का प्रवेश वर्जित किया हुआ था। अदालत परिसर में चारों ओर केवल खाकी वर्दी ही नजर आ रही थी। अब देखना है कि इस बार सलमान खान के साथ क्या होता है।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें