28 C
Lucknow
Monday, July 15, 2024

मोदी को अपने अलावा सबमें कुछ न कुछ कमियां दिखाई पड़ती हैं : राहुल

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘स्कैम’ के जवाब में आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इसकी नयी परिभाषा गढ दी. गांधी और यादव ने कानपुर में दोनो नेताओं ने संयुक्त रैली में ‘स्कैम’ की नयी परिभाषा बतायी. यादव ने ‘स्कैम’ का मतलब “सेव द कंट्री फ्राम अमित शाह एंड मोदी” बताया जबकि कांग्रेस उपाध्यक्ष ने ‘स्कैम’ का अर्थ बताते हुए कहा कि एस का मतलब सेवा गरीबों की, सी से क्रेज बहादुरी और सच्चाई की, ए से एविलिटी वादे पूरे करने की और एम का मतलब है मोडिस्टी यानि इस बात को मानना कि सब में कुछ न कुछ कमी होती ही है. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें सबमें कुछ न कुछ कमियां दिखाई पड़ती है लेकिन वह अपने आप को ही सही मानते हैं. यादव ने कहा कि इन दाेनाें से ही देश अाैर उत्तर प्रदेश काे बचाना है. उन्होंने भाजपा की ओर इशारा करते हुये कहा कि अरे, सपा से बुआ (मायावती) का रिश्ता क्यों जोड़ते हो, बुआ तो आपके नजदीक हैं और उन्होंने कई बार भाजपा नेताओं के साथ रक्षाबंधन मनाया है. उन्होंने कहा कि भाजपा के लोग सपना दिखाते हैं और जनता को बहकाते हैं इसलिए बहुत समझदारी से जनता को गठबन्धन की मदद करनी है. गौरतलब है कि मोदी ने कल मेरठ की जनसभा में ‘स्कैम’ का मतलब समझाते हुए कहा था कि एस के मायने है समाजवादी पार्टी, सी से कांग्रेस, ए का मतलब है अखिलेश और एम का अर्थ है मायावती. मोदी ने उत्तर प्रदेश के विकास के लिए ‘स्कैम’ से मुक्ति को जरुरी बताया था. गांधी यहां समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कानपुर में गठबंधन के प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि माेदी जी ने हंसकर गरीबाें से कहा अापकी जेब में जाे पैसा है उसे रद्द कर दिया. यह सिर्फ इसलिए क्याेंकि माेदी जी काे अपने 50 अमीर दाेस्ताें के छह लाख कराेड़ के कर्ज काे माफ करना है. प्रधानमंत्री को हर जगह सिर्फ स्कैम दिखाई देता है. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने नाेटबंदी की चर्चा करते हुए कहा कि मोदी ने गरीबाें के पेट पर लात मारने का काम किया है. सरकार ने गरीबाें के पैसे काे साजिशन बैंकाें में फंसाए रखा ताकि वह विजय माल्या की तरह अपने अमीर दाेस्ताें के कर्ज माफ कर सकें. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि किसानों के कर्ज माफ करने की जरुरत थी लेकिन भाजपा को उनकी परवाह नहीं है. उन्होंने लोगाें से गठबंधन के उम्मीदवारों को जिताने की अपील की. उन्होंने कहा कि गठबंधन के बाद मोदी जी की मुस्कुराहट गायब हो गई. गांधी ने शायरी के जरिए मुस्लिम वर्ग को गठबंधन के पाले में करने के लिए पुरजोर प्रयास किया. उन्होंने कहा, “मै हिंदी उर्दू का दोआब हूं, वह आईना हूं जिसमें हम और आप हैं. नफरत फैलाने वालों से पूरी तरह सावधान रहें और हमारा गठबंधन प्रदेश ही नहीं देश की तस्वीर बदलने वाला है.” इससे पहले यादव ने कहा कि कानपुर देहात के झींझक की एक गर्भवती महिला नोटबंदी के चलते लाइन में लगी और बैंक में ही उसको बच्चा हो गया. लोग मजाक में उसे खजांची कहने लगे लेकिन हमने उसे वास्तविक खजांची बनाने का काम किया और दो लाख रूपये की आर्थिक सहायता दी लेकिन, केन्द्र सरकार ने अब तक किसी भी ऐसे व्यक्ति की सुध नहीं ली जिसने लाइन में लगकर बैंक में दम तोड़ दिया. कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और अखिलेश यादव का ज्यादातर हमला केन्द्र सरकार पर ही रहा. मजाकिया लहजे में यादव ने जरूर मायावती को बुआजी कहकर एक दो बार कमेंट कसा पर राहुल गांधी बसपा पर एक शब्द भी नहीं बोले. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए यादव ने कहा कि वह जनता को सपने दिखाते हैं और वह हकीकत में काम करने पर विश्वास करते हैं. उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश अागे बढ़ेगा तभी देश बढेगा. प्रदेश की जनता का भरोसा है कि समाजवादी पार्टी ने काम किया है. वह नहीं जानते कि किसी ने मेट्राे मांगी थी बिना मांगे मैंने कानपुर काे मेट्राे देने का काम किया है. कानपुर में एक ही प्राणि उद्यान है और जल्द ही दूसरा बनकर तैयार हो जायेगा. यादव ने कहा कि जिन्हाेंने अच्छे दिन की बात कही थी उन्होंने जनता को लाइन में लगा दिया और कम से कम वे लोग अब ताे बता दें कि कालाधन कितना है और कहां कहां है. उन्होंने कहा कि अच्छे दिन तो नहीं आए पर लाइन में खड़े-खड़े कितने लोगों की मृत्यु हो गयी इसका जिम्मेदार कौन है. कम से कम समाजवादी पार्टी ने जिन लोगों की मृत्यु लाइन में लगे रहने से हो गयी थी,उनके आश्रितों को दो-दो लाख रुपये देकर सपा सरकार ने मदद की है. भारतीय जनता पार्टी ने उन लोगों के परिजनों पर कोई ध्यान ही नहीं दिया. उन्होंने कहा कि अगर वह बनारस, लखनऊ में नदी के किनारे रिवर फ्रंट बना सकते हैं ताे कानपुर में भी बना सकते हैं और यहां लखनऊ से भी सुंदर रीवर फ्रंट बनवाऊंगा. कानपुर का विकास करूंगा. उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि कभी कंजूस दाेस्त से दाेस्ती न करना. बहुत नुकसान हाेगा.

मोदी को अपने अलावा सबमें कुछ न कुछ कमियां दिखाई पड़ती हैं : राहुल
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्हें सबमें कुछ न कुछ कमियां दिखाई पड़ती है लेकिन सिर्फ अपने आप को ही सही मानते हैं. गांधी आज यहां समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ कानपुर में गठबंधन के प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित चुनवी सभा को संबोधित कर रहे थे . इसके पहले अखिलेश यादव ने तो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा ही साधा लेकिन जब कानपुर स्थित जीआईसी मैदान पर राहुल गांधी पहुंचे तो उनके निशाने पर भी भाजपा और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ही थे. गांधी ने कहा कि माेदी जी ने हंसकर गरीबाें से कहा अापकी जेब में जाे पैसा है उसे रद्द कर दिया. यह सिर्फ इसलिए क्याेंकि माेदी जी काे अपने 50 अमीर दाेस्ताें के छह लाख कराेड़ के कर्ज काे माफ करने हैं. उन्होंने कहा कि मोदी को हर जगह सिर्फ स्कैम दिखाई देता है. राहुल ने कहा कि स्कैम की नई परिभाषा तो यह है एस का मतलब सेवा गरीबों के लिए, सी का मतलब क्रेज-बहादूरी सच्चाई की, ए का मतलब एबिलिटी वादे परे करने के लिए और एम का मतलब मोडिस्टी इस बात का मानना कि सबमें कुछ न कुछ कमी हाेती है. उन्हाेंने नाेटबंदी की चर्चा करते हुए कहा कि मोदी ने गरीबाें के पेट पर लात मारने का काम किया है. सरकार ने गरीबाें के पैसे काे साजिश के तहत बैंकाें में फंसाए रखा ताकि वह अपने अमीर दाेस्ताें के कर्ज माफ कर सकें, जिस तरह से विजय माल्या का कर्ज माफ कर दिया. गांधी ने कहा कि किसानों के कर्ज माफ करने की जरुरत थी लेकिन भाजपा को उनकी परवाह नहीं है. उन्होंने लोगाें से गठबंधन के उम्मीदवारों को जिताने की अपील की.

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें