28 C
Lucknow
Thursday, July 18, 2024

रीता बहुगणा जोशी को टक्कर देंगी अपर्णा यादव, जानें किसका पलड़ा है भारी

लखनऊ,NOI। यूपी चुनाव में लखनऊ कैंट विधानसभा सीट में राजनीतिक लड़ाई काफी दिलचस्प होने वाली है। ये सीट अब हाईप्रोफाइल हो गई है। इसमें एक तरफ मुलायम की बहू अपर्णा यादव हैं तो दूसरी ओर दिग्गज नेता और इस बार भाजपा के टिकट से लड़ रहीं रीता बहुगुणा जोशी हैं। इस सीट पर होने वाले दिलचस्प मुकाबले पर सबकी नज़रें हैं।
दोनों ही प्रतिद्वंद्वी लोकप्रियता के मामले में एक दूसरे पर भारी पड़ रहे हैं। एक पुरानी नेता हैं और भाजपा से हैं। तो दूसरी सत्ता पर काबिज समाजवादी पार्टी से हैं और मुलायम सिंह यादव की बहू हैं। राजनीतिक विश्लेषक अपने-अपने तरीके से इस सीट पर आकलन कर रहे हैं। कोई अपर्णा को आगे बता रहा तो कोई रीता बहुगुणा जोशी को।

अपर्णा यादव (27) युवा हैं और रीता बहुगुणा जोशी अनुभवी हैं। लखनऊ कैंट शिक्षित वर्ग की सीट है, इसलिए विकास का मुद्दा ज्यादा अहम रहेगा।
अपर्णा यादव युवा सोच लेकर चुनावी मैदान में उतर रही हैं। उनका कहना भी है कि वो इलाके के लोगों के लिए काम करना चाहती हैं। अपर्णा दावा करती हैं कि वो विधायक तो नहीं हैं लेकिन लखनऊ कैंट में उन्होंने काम कराया है और वो इसे आगे भी जारी रखना चाहती हैं। अपर्णा के हक़ में एक बात और भी है कि उनके साथ मुलायम सिंह यादव का नाम जुड़ा है। अपर्णा यादव मुलायम सिंह यादव की बहू हैं। उन्हें परिवार में सभी का समर्थन प्राप्त है। कांग्रेस से गठबंधन का फायदा भी अपर्णा को मिलेगा।

वहीं, दूसरी ओर रीता बहुगुणा जोशी की बात करें तो लखनऊ कैंट से वो विधायक हैं। उनका दावा है कि उन्होंने अपने पांच साल के कार्यकाल में काफी काम कराया है और इसका उन्हें फायदा मिलेगा। बता दें कि रीता बहुगुणा जोशी हाल ही में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आई हैं। उनके हक़ में ये है कि लखनऊ कैंट की सीट पर भारतीय जनता पार्टी की स्थिति ठीक है। 1989 से लगातार यहां बीजेपी के उम्मीदवार जीते हैं। सपा-कांग्रेस गठबंधन की वजह उन्हें नुकसान उठाना पड़ सकता है। कांग्रेस में रहते हुए उन्हें जो समर्थन हासिल था, वो वोट उनके खाते में नहीं भी जा सकता है।
जातिगत समीकरणों के हिसाब से लखनऊ कैंट सीट पर 3.15 लाख मतदाताओं वाली इस सीट पर 60 हज़ार ब्राह्मण हैं। 50 हज़ार दलित, 40 हज़ार वैश्य और 30 हज़ार पिछड़े वर्ग के मतदाता हैं।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें