28 C
Lucknow
Monday, July 15, 2024

रेपिस्ट सुनील की पत्नी ने किये और भी खुलासे।

रामपुर,  NOI | तकरीबन 500 मामलों में वांछित सीरियल रैपिस्ट सुनील रस्तौगी उत्तर प्रदेश के जिला रामपुर का रहने वाले है जो अपने परिवार के साथ भी अच्छा नहीं था। तंगदस्ती से जूझ रहे परिवार पर उसने कभी ध्यान नहीं दिया। जिसके चलते उसका परिवार और मासूम बच्चे भी उसे कोस रहे हैं। आरोपी सुनील रस्तोगी ने 14 साल दिल्ली में दर्ज़ी का काम किया था और उसके निशाने पर खासतौर से 8 से 15 साल के बीच की बच्चियां होती थी। डीसीपी ओमवीर सिंह ने बताया आरोपी सुनील रस्तोगी 1990 से 2004 तक दिल्ली में रहा और वे दर्ज़ी का काम करता था दिल्ली में रहते हुए भी उस ने कई घटनाओं को अंजाम दिया था। मामले की जाँच में जुटी पुलिस अब उस से सख्ती से पूछताछ कर उसकी करतूतों का पता लगाने में जुटी हुई है। पुलिस ने सीसीटीवी की फुटेज के ज़रिये सिरियल रेपिस्ट को गिरफ्तार किया है।

मामले की जाँच में जुटी पुलिस ने वताया के आरोपी की फोटो दिखाने का सिलसिला चल रहा था, तो कल्यान पूरी निवासी एक व्यक्ति ने उसकी पहचान की उसने वताया के आरोपी वर्ष 2000 के आस पास उसके पड़ोस में ही रहता था। उस वक़्त भी उसकी आदते खराब थी वे आस-पास की महिलाओं और बच्चियों पर बुरी नज़र रखता था। एक बार पकडे जाने पर लोगो ने उसकी धुनाई भी की थी। पुलिस के मुताबिक आरोपी सुनील रस्तोगी ने सभी वारदाते एक ही ड्रेस पहन कर की है। उसे लगता था के वे अगर लाल जैकेट पहन कर जायेगा तो उसे कोई नहीं पकड़ पायेगा।

रेयर आॅफ रेयरेस्ट और हिनीयस क्राइम को अंजाम देने वाले सुनील रस्तोगी का परिवार जिला रामपुर की तहसील बिलासपुर क्षेत्र के शारदा सिटी में किराये के मकान पर रहता है। कई साल पहले जब पत्नि भावना पैरों से विकलांग नहीं थी तब सुनील रस्तोगी ने उसे अपने भरोसे में लेकर उसके साथ विवाह किया। लेकिन विवाह के बाद से सुनील रस्तोगी की आदत उसे पसंद नहीं आई, क्योंकि वह कभी अपनी पत्नि और पांच बच्चे पर ध्यान नहीं देता था।

हमेशा काम के बहाने घर से गायब रहना अचानक घर से गायब हो जाना घर में बच्चों के पैरों में जूती चप्पल तक का ध्यान नहीं रखने वाला सुनील रस्तोगी अपने उपर यानी वेषभूशा को लेकर काफी सजग रहता था। पत्नि की यदि माने तो शादी से पहले वह विकलांग नहीं थी लेकिन परिवार पर ध्यान नहीं देने के चलते वह बीमारी और गरीबी के चलते विकलांग हो गई। साथ ही मानसिक संतुलन भी अपनी जगह नहीं है। अचानक सही बात करते करते उट पटांग बोलने भी लगती है। लेकिन अपने हालातों से काफी खफा नजर आने वाली सीरियल रैपिस्ट की पत्नि बताती है कि अक्सर यहां भी वह मासूमों के पीछे पड़ जाता था और इसी सिलसिले में कई बार उधम सिंह नगर के हल्दानी में पकड़ा गया है। लेकिन जिला रामपुर की तहसील बिलालसपुर में उसका कोई क्रिमिनल रिकाॅर्ड नहीं मिला। परिवार इतना परेशान है कि पत्नि ही नहीं बल्कि बच्चे भी उससे काफी नाराज नजर आये। सभी उसकी हरकतों के कारण उसे समझाने की कोशिश करते लेकिन टेलर का काम करने वाले उस हैवान का सिंगल ट्रेक प्रोग्राम चल था। हमेशा लोगों के साथ अश्लील हरकत करता और जनता के कोप का भाजन बनता।

परिवार में सुनील को जहां बच्चे गंदा काम करने वाले बता रहे हैं वहीं पत्नि भी ऐसे पति के लिए फांसी चाहती है।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें