28 C
Lucknow
Thursday, July 18, 2024

शशिकला नटराजन AIADMK विधायक दल की नेता चुनी गईं, पन्नीरसेल्लवम ने प्रस्तावित किया नाम|

चेन्नई, एजेंसी | तमिलनाडु में चर्चा है कि जल्द ही मौजूदा मुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम की पद से छुट्टी हो सकती है, कयास है कि जल्द ही सत्ताधारी एआईएडीएमके की महासचिव वी के शशिकला पन्नीरसेल्वम को हटाकर खुद मुख्यमंत्री बन सकती हैं। मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस संबंध में अंतिम फैसला आज पार्टी विधायकों की बैठक में लिया जाएगा कहा जा रहा है कि एआईएडीएमके पार्टी में उपजे सत्ता विवाद को सुलझाना चाहता है।

सूत्र बताते हैं कि राज्य के तीन वरिष्ठ नौकरशाहों से शुक्रवार को इस्तीफा देने के लिए कहा गया। जिन लोगों से इस्तीफा मांगा गया है उनमें राज्य सरकार की मुख्य सलाहकार शीला बालाकृष्णन भी हैं। शीला को जयललिता का सबसे भरोसेमंद अधिकारी माना जाता था।

हालांकि सूत्रों ने बैठक के एजेंडे की जानकारी नहीं दी है और विधायकों द्वारा अन्नाद्रमुक की महासचिव शशिकला से मुख्यमंत्री पद संभालने का अनुरोध करने से जुड़ी खबरों की पुष्टि भी नहीं की है।

ओ पनीरसेल्वम से मुख्यमंत्री पद की कमान शशिकला द्वारा लिए जाने से जुड़ी खबरों के बारे पूछे जाने पर एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘यह आपकी कल्पना और कयासबाजी है।’ लोकसभा उपाध्यक्ष एम थंबीदुरई समेत अन्य ने मुख्यमंत्री पद पर शशिकला को बैठाए जाने का समर्थन किया है।

गत वर्ष पांच दिसंबर को मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद शशिकला को पार्टी का महासचिव बनाया गया था।शशिकला लगभग तीन दशक तक जयललिता की करीबी सहयोगी रही हैं और उन्हें हमेशा अन्नाद्रमुक में सत्ता के केंद्र के रूप में देखा जाता रहा है।

सूत्रों के मुताबिक, एआईएडीएमके पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के देहांत के बाद पार्टी में उपजे सत्ता के दो केंद्रों का विवाद खत्म करना चाहती है, पार्टी इसके लिए अब शशिकला को सीएम बनाकर विवाद हल करना चाह रही है।

शशिकला को राज्य की कमान मिलने संकेत काफी पहले ही मिल गए थे, जब पार्टी की ओर से जारी की गई प्रेस विज्ञप्तियों में उन्हें चिनम्मा (छोटी अम्मा) कहकर संबोधित किया गया है, बता दें कि राज्य में पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता को उनके समर्थक आदर भाव से अम्मा कह कर पुकारते थे।

हालांकि सूत्रों ने बैठक के एजेंडे की जानकारी नहीं दी है और विधायकों द्वारा अन्नाद्रमुक की महासचिव शशिकला से मुख्यमंत्री पद संभालने का अनुरोध करने से जुड़ी खबरों की पुष्टि भी नहीं की गई है। पन्नीरसेल्वम से मुख्यमंत्री पद की कमान शशिकला द्वारा लिए जाने से जुड़ी खबरों के बारे पूछे जाने पर एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘यह आपकी कल्पना और कयासबाजी है।’ लोकसभा उपाध्यक्ष एम थंबीदुरई समेत अन्य ने मुख्यमंत्री पद पर शशिकला को बैठाए जाने का समर्थन किया है।

गत वर्ष 5 दिसंबर को मुख्यमंत्री जयललिता के निधन के बाद शशिकला को पार्टी का महासचिव बनाया गया था। शुक्रवार को शशिकला ने वरिष्ठ नेताओं को पार्टी के प्रमुख पदों पर नियुक्त किया था जिनमें कुछ पूर्व मंत्री और एक पूर्व मेयर भी शामिल हैं।

शशिकला (62) लगभग तीन दशक तक जयललिता की करीबी सहयोगी रही हैं और उन्हें हमेशा अन्नाद्रमुक में सत्ता के केंद्र के रूप में देखा जाता रहा है।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें