28 C
Lucknow
Saturday, July 20, 2024

साइकिल किसकी? बिना चुनाव चिन्ह के प्रचार करते नज़र आ सकते है अखिलेश, मुलायम!

लखनऊ , NOI । जहाँ हर पार्टी चुनाव की तिथियां आने के बाद अपनी अपनी तैयारियों में व्यस्त हो गई है वही समाजवादी पार्टी और अखिलेश अभी तक यह ही तय कर पाए है कि वह चुनाव किस निशान से लड़ेंगे। साइकिल की यह जंग अब चुनाव आयुक्त के पाले में है मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने इस संबंध में कहा कि दोनों ही पक्षों की तरफ से उनके पास प्रत्यावेदन आए हैं। नियमों के अनुसार परीक्षण किया जाएगा और सही समय पर निर्णय सुनाया जाएगा। चुनाव की घोषणा के दौरान पत्रकारों के पूछने पर मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने कहा कि सपा के दोनों समूहों की तरफ से प्रत्यावेदन आए हैं। कल शाम राम गोपाल यादव की तरफ से एक डिटेल प्रस्तुत किया गया था। कमीशन साधारण नियमों के तहत निर्धारित प्रक्रिया अपनाते हुए उनका परीक्षण कर रहा है।

अब दोनो ही लोगो को अपनी अपनी ताकत दिखानी होगी और उचित समय पर निर्णय लिया जाएगा। चुनाव चिन्ह रद्द किए जाने की बात पर बोले कि अभी सिर्फ हम परीक्षण करेंगे। इससे पहले मंगलवार रात को आजम ने अखिलेश और मुलायम के बीच बातचीत होने की बात का स्वागत करते हुए कहा था कि ये अच्छी बात है कि बातचीत शुरू हुई है. आगे भी अच्छा ही होगा. बुधवार को वह खुद नेताजी से मुलाकात की। बुधवार को अखिलेश और मुलायम के बीच करीब साढ़े तीन घंटे चली वार्ता फेल हो गई थी। सूत्रों के अनुसार बैठक में दोनों ही पक्ष अपनी-अपनी मांगों पर अड़े हुए थे और कोई भी झुकने को तैयार नहीं था और जब शिवपाल आ गए तो कुछ भी नहीं बन पाया। पूरी बात राम गोपाल और अमर सिंह पर आकर रुक जा रही थी।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें