सीतापुर-अनूप पाण्डेय,अरुण शर्मा/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के पिसावां क्षेत्र के लौकी गाँव मे शनिवार को गन्ना किसानों की बैठक मृदा परीक्षण के लिए सुझाव दिये गयै इस अवसर पर गन्ना अनुसंधान केंद्र शाजहाँपुर के वैज्ञानिक डॉ श्री प्रकाश यादव व पी के कपिल व गन्ना विकास परिषद के जेष्ठ गन्ना विकास निरीक्षक एस एन मिश्र ने किसानो को बताया को बताया सबसे पहले किसानों को अपने खेतों की मिट्टी की जांच कराना चाहिए उन्होंने किसानों को बताया कि मिट्टी जांच के बाद ही सन्तुलित खाद का प्रयोग किया जाता है जिससे फसलो मे कम लागत मे अच्छी फसल का उत्पादन किया जा सकता है उन्होंने किसानों से गन्ने के कूड़ से कुंड की दूरी बढ़ाने की सलाह दी किसानों से खेत की गहरी जुताई करने के लिये बताया इससे खेत की पानी रोकने की छमता में वृद्धि होती है व खाली खेतो में हरी खाद के रूप में ढैचा बोया जाय , इस अवसर पर हरियांवां चीनी मिल के क्षेत्रीय गन्ना प्रबंधक संतोष सिंह ने बताया गन्ने में यूरिया का प्रयोग मानसून के पहले ही करना चाहिए जिससे उसका पूरा उपयोग हो जाता है बारिश में यूरिया गन्ना कम और वातावरण में ज्यादा बेकार हो जाती है गन्ना किसानों को सर्वे संबधी जानकारी देते हुये कहा कि किसान अपना घोसणा पत्र अवश्य भरे अपने खेत पर उपस्थित रहकर करने व अपना सर्वे कराये । इस अवसर पर हरियावां चीनी मिल के जॉइंट केन मैनेजर सुरेश राजपूत, उप गन्ना प्रबंधक आलोक सिंह, गन्ना अधिकारी अजय शुक्ल, शेखर सिंह, पवन गुप्ता ठाकुर जनार्दन सिंह, शुशील शुक्ला व किसान हीरा आदि लोग उपस्थित रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.