विकास भवन में सम्पन्न हुई बैंकर्स कार्यशाला….

विकास भवन सभागार में आयोजित हुई बैंकर्स सेन्सीटाईज़ेशन कार्यशाला

बहराइच :(अब्दुल अजीज)NOI:-विकास भवन सभागार में शुक्रवार की देर शाम दीन दयाल अन्त्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन अन्तर्गत आयोजित बैंकर्स सेन्सीटाईज़ेशन कार्यशाला का शुभारम्भ जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया।
कार्यशाला को सम्बोधित करते हुए जिला विकास अधिकारी वीरेन्द्र सिंह ने कार्यशाला के उद्देश्य एवं महत्व पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। उपायुक्त स्वतः रोज़गार सुरेन्द्र कुमार गुप्ता ने राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में हुई प्रगति की विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी। जिला मिशन प्रबन्धक शैलेन्द्र त्रिपाठी द्वारा प्रस्तुतिकरण के माध्यम से राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत कराये जा रहे कार्यो, चरणबद्ध बैंकिंग से जुड़ाव व ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब परिवारों की महिला सदस्यों को स्वयं सहायता समूहों से जोड़कर उनका आर्थिक व सामाजिक विकास के बारे में विस्तृत तरीके से बताया गया।
कार्यशाला में मिशन मुख्यालय लखनऊ से आये हुए परियोजना प्रबन्धक (एम.एफ एण्ड एफ.आई.) द्वारा राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन एवं भारतीय रिज़र्व बैंक की फाइनेन्शियल एन्क्लूज़न ऐस्पेक्ट पर प्रस्तुतीकरण के माध्यम से विस्तृत जानकारी प्रदान की गयी। जिससे स्वयं सहायता समूहों के बचत खाते एवं बैंक क्रेडिट लिंकेज कराये जाने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना समूह सदस्यों को न हो और इसके लिए आरबीआई द्वारा निर्गत विभिन्न प्रकार के आदेशों से सभी को अवगत कराया गया।
कार्यशाला के दौरान स्वयं सहायता समूहों से आई हुईं महिलाओं द्वारा स्वागतगीत व अपनी कहानी अपनी ज़ुबानी के माध्यम से समूह संचालन की गाथा बयान की गयी जिसे सभी बैंक शाखाओं द्वारा सराहा गया। कार्यक्रम के अन्त में राज्य स्तरीय परियोजना प्रबन्धक द्वारा सबसे अच्छे बैंक शाखाओं के प्रबन्धकों जिनके द्वारा सर्वाधिक स्वयं सहायता समूहों के बचत खाते एवं बैंक क्रेडिट लिंकेज किया गया है, को स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया।
इस अवसर पर जिले के विभिन्न विकास खण्डों से बैंक शाखा प्रबन्धक, विभिन्न बैंकों के जिला सतरीय प्रतिनिधि व समन्वयक, जिला अग्रणी प्रबन्धक, ब्लाक मिशन प्रबन्धक, ब्लाक एंकर पर्सन, टीम लीडर एवं विभिन्न स्वयं सहायता समूहों के पदाधिकारी व विकास खण्ड अधिकारी मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.