शरद कालीन गन्ना बुवाई ट्रेंच विधि से बोने के लिये किसानो के खेत मे फीता काटकर किया गया शुभ आरम्भ।

सीतापुर-अनूप पाण्डेय,अरुण शर्मा/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के पिसावां शरद कालीन गन्ना बुवाई ट्रेंच विधि से बोने के लिये बाक्सापुर गांव मे किसानो के खेत मे फीता काटकर की गयी इस अवसर पर हरियांवां चीनी मिल के गन्ना अधिकारी सन्तोष सिंह व उप गन्ना प्रबंधक आलोक सिंह ने किसानों को बताया कि गन्ना बोने से पहले बीज शोधन अवश्य कर ले इससे गन्ना बीज का पूर्ण जमाव होता है। उन्होंने कहा कि शरद कालीन गन्ना बुवाई मे लागत कम तथा उपज अधिक होती है किसानों को बीज शोधन में का तरीका बताते हुये गन्ना अधिकारी ने बताया कि हेक्सास्टाप व (emidacloprid) से बीज को 10 मिनट तक डुबाकर फिर बोने की सलाह दी तथा किसानों को साथ मे सह फसल में आलू चना लहसुन मटर सरसो आदि भी बोने की सलाह दी ।उन्होंने कहा सह फसली से किसानों को आमदनी भी होगी और गन्ने बुवाई की लागत भी कम हो जायेगी, किसानों को भूमि उपचार के लिये बबेरिया बेसियाना को 2 कुंतल गोबर की सड़ी हुई खाद में मिलाकर दो तीन दिन छाया में रख दे ,इसी प्रकार ट्राइकोडर्मा भी इसी तरह बना ले और खेत की तैयारी में अंतिम जुताई करते समय बिखेर दे फिर पाटा लगा दे । जिससे लाल सड़न रोग भी रुकेगा और दीमक और सफेद गिडार भी रुकेगा । किसानों को गन्ने में टपक सिचाई विधि से सिचाई करने की सलाह दी उन्होंने बताया कि इस अवसर पर अनुराग गुप्ता, शेखर सिंह, रामबली रामलखन सिंह, विनय सिंह, आदि किसान मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.