कहा जाता है, कि प्यार किसी को भी हो सकता है और ना ही इसमें उम्र का कोई फर्क पड़ता है। आध्यात्मिक की राह पर चल रहे 59 वर्षीय विदेशी साध्वी को 70 वर्षीय भारतीय साधु से प्यार हो गया। जिसके चलते दोनों ने शादी करने का निर्णय कर लिया। इसके बाद दोनों मध्य प्रदेश के जिला मुख्यालय स्थित कलेक्टर कार्यालय में शादी का पंजीकरण कराने पहुंचे। लोग इस शादी को बहुत ही संदिग्ध नजरों से देख रहे हैं।

खरगोन जिले के कसरावद तहसील इलाके के खल गांव स्थित शनि मंदिर आश्रम में रहने वाले 70 साल के महंत आनंदपुरी और 59 वर्षीय फिनलैंड निवासी तारजा एनेली को आपस में प्यार हो गया। बता दें, कि दोनों के प्यार की कहानी हिमाचल से शुरू हुई थी।

दोनों के वकील ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया, कि दोनों की मुलाकात करीब 11 वर्ष पहले हिमाचल प्रदेश में हुई थी। इसके बाद दोनों में नजदीकियां बढ़ने लगी और दोनों एक साथ रहने लगे। उन्होंने बताया, कि दोनों एक दूसरे की भाषा को बहुत अच्छी तरीके से समझते हैं और दोनों ने शादी करने का निर्णय लिया है। जिसके चलते आज विवाह पंजीकरण के लिए कोर्ट में पहुंचे हैं।

वकील के साधु प्यार की दास्तान के बारे में बताते हैं, कि दोनों को एक नजर में ही प्यार हो गया था, लेकिन दोनों ने एक दूसरे को इजहार नहीं किया। 5 साल गुजार दी, लेकिन फिर दोबारा मिले, तो दोनों ने एक दूसरे के प्यार का इजहार किया और साथ में जिंदगी गुजारने का निर्णय लिया। इनका कहना है, कि अब से मौत आने तक दोनों साथ साथ रहेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.