सीतापुर-अनूप पाण्डेय,रियासत सिद्दीकी/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के रामकोट में
स्वामी विवेकानंद के आदर्शों से सीख लें तो बने बात : आर के यादव रामकोट/सीतापुर। युवाओं के प्रेरणास्रोत स्वामी विवेकानंद की जयंती कस्बा स्थित केपी मेमोरियल पब्लिक स्कूल में शनिवार को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में मनाई गई। हर्षोल्लास के साथ स्वामीजी के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। स्वामीजी के कृतित्व और व्यक्तित्व को याद कर स्वामी विवेकानंद की जयंती धूमधाम से मनाई गई।
विद्यालय प्रबंधक डॉ. आरके यादव ने कहा कि विवेकानंदजी युवाओं के प्रेरणास्रोत हैं। उन्होंने शिकागो धर्म सम्मेलन में भारत का प्रतिनिधित्व करके देश का गौरव बढ़ाया। विवेकानंद जी सामाजिक समरसता के पोषक थे। उन्होंने संपूर्ण विश्व को सर्वधर्म संभाव का संदेश दिया। विवेकानंद जी ने विश्व पटल पर भारतीय धर्म एवं संस्कृति को गौरवान्वित करने का कार्य किया है। उनकी प्रासंगिकता सदैव बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि युवा पीढ़ी आज उनके विचारों को आत्मसात करें। आज की युवा पीढ़ी को स्वामीजी के विचारों एवं आदर्शों को आत्मसात करने की आवश्यकता है। युवाओं का आह्वान करते हुए कहा कि उनमें वह क्षमता है, जिससे समाज में समरसता प्रेम, भाईचारा, भारतीय संस्कृति को जीवित कर सकते हैं। प्रधानाचार्य लाला राम यादव ने कहा कि स्वामीजी का जीवन अनुकरणीय है। युवाओं को उनके जीवन से सीख लेनी चाहिए। उन्होंने समाजसेवा का संदेश दिया है। राष्ट्रप्रेम को परिभाषित किया है। उनके अपने ज्ञान और संस्कारों से भारत का नाम विदेश में भी रोशन किया। आज भी उनका व्यक्तित्व विश्व पटल पर चमचमा रहा है। स्वामी विवेकानंद हम सभी के दिलों में विद्यमान है। जरूरत है, उन्हें बाहर लाने की। अगर एक भी विवेकानंद जी जैसा चरित्र हमारे समाज में आ जाए तो समाज की दिशा और दशा बदल जाएगी। विद्यालय के बच्चों ने सरस्वती वंदना प्रस्तुत की। युवाओं से‘उठो जागो, लक्ष्य से पहुंचने से पहले मत रुको’का आह्वान किया। छात्र-छात्राओं ने स्वामीजी के पद चिह्नों पर चलने का संकल्प लिया। इस अवसर पर विद्यालय के समस्त अध्यापक-अध्यापिकाओं सहित छात्र-छात्राएं आदि मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.