दीपक ठाकुर-NOI।

बसपा सपा के गठबंधन के बाद खुद की जगह तलाश कर रही कांग्रेस पार्टी ने अकेले ही चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है।कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता व यूपी प्रभारी गुलाम नबी आजाद ने कहा कि वो जबरदस्ती गठबंधन का हिस्सा नही बने रहेंगे इस लिए पार्टी ने सभी सीटों पर चुनाव लड़ने का फैसला लिया है।उनका कहना था कि उनकी पार्टी हर उस दल के साथ है जो भाजपा को रोकने का काम करेगी उन्होंने ये संकेत भी दिए के समय आने पर वो गठबंधन का भी समर्थन करने को तैयार हैं।

यूपी में अब लोकसभा की चुनावी गड़ित का आंकलन करना ज़रा भी मुश्किल नही यहां जो होगा वो भाजपा बनाम अन्य होगा ये अन्य कई दलों का गठबंधन ही होगा ये भी तय है लेकिन कांग्रेस का अकेले चुनाव लड़ने का फैसला भाजपा को नुकसान देने वाला है या गठबंधन के लिए मुसीबत बनेगा ये देखने वाली बात होगी।अब जनता को अगर भाजपा से किनारा करना है तो वो जिसको चाहे वोट करे वो जाएगा बसपा सपा और कांग्रेस के ही खाते में।

अब गठबंधन ज़रूर कांग्रेस के इस फैसले पर कोई नई रणनीति बनाने की कवायद करेगा क्योंकि वो जानता है कि कांग्रेस को पड़ने वाले वोट भाजपा को फायदा पहुंचाने में काफी मददगार साबित होंगे और अगर इनकी ये स्थिति भी ना रही के सभी मिल के भी भाजपा को ना रोक पाए तो इनका मिशन अधूरा ही रह जाएगा जो के कभी नही चाहेंगे क्योंकि यूपी की 80 सीटों से ही केंद्र में किसकी सरकार बनेगी इसकी तस्वीर लगभग साफ हो जाती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.