सीतापुर-अनूप पाण्डेय,अरुण शर्मा/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के

पिसावां पुलिस को सपा नेता की हत्या की जानकारी मिलते ही पुलिस हुई सक्रिय सकि्यता के चलते सपा नेता की हत्या होते बची हत्या की सुपारी देने वालो सहित सूटर सहित पांच लोगो को पुलिस ने दूकान पर देर रात गिरफ्तार किया प्रयोग में लायी जाने वाली कार व एक 15 बोर अवैध असलहा 14 कारतूस के साथ दी गयी सुपारी की 20 हजार कज नगदी बरामद करने मे सफलता हासिल की है उधर सपा नेता की हत्या की जानकारी मिलने पर पूरा परिवार सदमे मे है
सपा नेता ने थाने पर तहरीर देकर 2 लाख रूपये की सुपारी देकर हत्या करने का आरोप लगाया
शनिवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली कि सपा नेता की हत्या की सुपारी के लिये सूटर को बुलाकर एकत्र है पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुये सर्विलांस टीम के साथ थानाध्यक्ष दिनेश सिंह,कुतुबनगर चौकी प्रभारी संत कुमार सिंह के साथ पुलिस बल ने सर्विलांस की मदद से मुल्लाभीरी स्थित जलाईपुर गांव निवासी पूर्व प्रधान मुंशी सिंह की दूकान पर छापा मारा जहां पर मछरेहटा थाना क्षेत्र के गजपुरवा निवासी सूटर अख्तर पुत्र अकबर बबुर्दीपर गांव के पूर्व प्रधान चंद्र पाल उर्फ फक्का यही का सफाई कर्मचारी फेरूलाल तथा सहुआपुर निवासी बीडीसी सदस्य अजब सिंह सहित पांचों लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया मौके पर ही 20 हजार की नगदी 315 बोर का अवैध असलहा तथा 14 कारतूस व एक कार बरामद कर लिया उधर सपा नेता शालू गुप्ता ने बताया प्रधान चंद्रपाल सिंह पर शौचालयो मे भृष्टाचार के चलते मुकदमा दर्ज हुआ था तथा आ रहे प्रधानी का चुनाव मे किसी तरह का अवरोध न हो जिसके लिये साजिश रची उन्होंने सरकार से भी अपने परिवार की सुरक्षा की मांग की है तथा पुलिस की सराहना करते हुये कहा पुलिस की सक्रियता के चलते उनकी हत्या होने से बच गयी
सपा नेता शालू गुप्ता की हत्या करने की साजिश क्षेत्र मे आग की तरह फैल गयी क्षेत्र के लोग सपा नेता के घर पहुंच कर परिवार के लोगों को सांत्वना दी तथा हत्या रचने की साजिश की घोर निंदा की
जब कि पूर्व मे एक साथ सपा मे रहते थे दोनो पक्ष के लोग प्रधानी चुनाव व अन्य विवादों के चलते एक पक्ष ने दूसरे को हटाने की साजिश रच डाली बताते है समाजवादी पार्टी मे पूर्व मे हत्या रचने की साजिश के सभी आरोपी व शालू गुप्ता का एक साथ रहना खाना हुआ करता था बबुर्दीपुर ही गांव के पूर्व प्रधान चंद्रपाल के द्वारा गांव मे शौचालय निर्माण मे धांधली होने का खुलाशा होना तथा ग्राम प्रधान के चुनाव मे एक दूसरे की मदद न करना तथा गाव से शालू गुप्ता का क्षेत्र पंचायत चुनाव लडना व आने वाले समय मे ग्राम प्रधान की उम्मीदवारी तय होना मुख्य कारण बताया जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.