मंत्री रीता जोशी ने के खिलाफ सीतापुर के पत्रकारों ने भरी हुंकार सीतापुर समस्त पत्रकारों ने दिया जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी को ज्ञापन

सीतापुर-अनूप पाण्डेय

सीतापुर। बीती 9 मार्च को जिला योजना समिति की बैठक के दौरान जिले की प्रभारी मंत्री डॉ रीता बहुगुणा जोशी द्वारा सीतापुर के पत्रकारों के साथ अभद्रता करने के मामले में सीतापुर के सभी पत्रकार एक जुट हो गए हैं जिन्होंने आज जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी को ज्ञापन भी दिया है । आपको बता दें कि केंद्र सरकार हो या प्रदेश सरकार पत्रकारों की सुरक्षा के लिए और पत्रकारों के मान सम्मान के लिए बड़े-बड़े दावे तो किए जाते हैं लेकिन सीतापुर में यह दावे तब खोखले साबित हुए जब मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने पूरे जिला प्रशासन जिले के सभी जनप्रतिनिधियों के आगे सीतापुर के पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार कर दिया

जानकारी हो कि बीती 9 मार्च को जिला कलेक्ट्रेट के सभागार में जिला योजना समिति की बैठक आयोजित की गई थी जिसमें जनपद के सभी विधायक सांसद और जिला प्रशासन के सभी अधिकारी मौजूद थे वही इस दौरान सेउता विधायक ज्ञान तिवारी द्वारा सीतापुर में हुए शौचालय के घोटाले को उजागर करने के प्रश्न करने के बाद जब इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रिंट मीडिया के पत्रकार न्यूज कवर करने लगे तभी मंत्री रीता जोशी द्वारा वहां खड़े पत्रकारों को बाहर निकलने के लिए कह दिया साथ ही बड़ी अभद्र भाषा में पत्रकारों को जिला कलेक्ट्रेट के सभागार से निकाल दिया गया । जिसके बाद अगले ही दिन 9 मार्च को देर शाम विकास भवन के धरना प्रदर्शन स्थल पर सभी पत्रकार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया प्रिंट मीडिया फोटोग्राफर वीडियो जर्नलिस्ट सभी उपस्थित हुए और सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया था की आज 11 मार्च को सुबह 11 बजे जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी को मुख्यमंत्री के नाम पर एक ज्ञापन प्रस्तुत किया जाएगा।जिसमें रोजाना हो रहे सीतापुर के पत्रकारों के साथ बदसलूकी अभद्रता और हो रही बेज्जती के संदर्भ में जिला अधिकारी को अवगत कराया जाएगा । वहीं आज सीतापुर समस्त पत्रकारों द्वारा सुबह 11 बजे सीतापुर जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी को मुख्यमंत्री को प्रेषित सैकड़ों पत्रकारों ने घटना से अवगत कराया और ज्ञापन प्रस्तुत किया ज्ञापन में पत्रकारों ने कहा कि जिला योजना समिति की बैठक में पत्रकारों से प्रभारी मंत्री द्वारा अभद्र व्यवहार किया गया उसकी वह कड़ी निंदा करते हैं उन्होंने कहा कि माननीय मंत्री सैया अपेक्षा वे नहीं करते थे कि वह न्यूज़ कवरेज के दौरान पत्रकारों को दिमाग खराब हो गया तमीज नहीं है जैसे शब्दों से नवाज एंगे और कहेंगी बाहर निकल जाओ माननीय मंत्री द्वारा चल रही योजना समिति की बैठक को प्राइवेट बैठक कहकर पत्रकारों को सभा कक्ष से बाहर निकलवा दिया गया था जब की सूचना विभाग द्वारा ही मंत्री टी अध्यक्षता में आयोजित होने वाली इस बैठक की जानकारी दी गई थी बैठक की सूचना मिलने पर ही पत्रकार समाचार संकलन करने हेतु सभाकक्ष के अंदर गए थे अगर या बैठक उनकी प्राइवेट भी थी तो शालीनता से भी पत्रकारों को सभा कक्ष से बाहर जाने के लिए कहा जा सकता था परंतु जिस भाषा का प्रयोग कर माननीय मंत्री द्वारा पत्रकारों का अपमान किया गया उसकी विदा करते हैं जबकि शासन द्वारा मीडिया से बेहतर संबंध बनाने के लिए समय-समय पर निर्देश दिए जाते रहते हैं पत्रकारों ने मांग की है कि हम सभी पत्रकारों के हित व सम्मान को दृष्टिगत रखते हुए प्रभारी मंत्री महोदया को सीतापुर जनपद के प्रभाव से मुक्त कर दिया जाए जिससे पत्रकारों का सम्मान सुरक्षित रह सके।

बाइट-

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.