स्लग- डीजीपी ओ पी सिंह का बयान।

एंकर- प्रदेश के पुलिस मुखिया डी जी पी ओ पी सिंह ने बहराइच के पुलिस मॉडर्न  स्कूल का निरिक्षण करने पहुचे, डीजीपी ओपी सिंह ने आज साफ़ कर दिया कि हमारी पालिसी अपराध और अपराधियों के प्रति आक्रामक रही है हमने अपराधो में लिप्त पुलिसकर्मियों को भी जेल भेजने का काम किया है.डीजीपी अपनी पत्नी के साथ पुलिस मॉडर्न स्कूल पहुचे जहा उन्होंने स्कूल के निरिक्षण के साथ साथ बच्चों से म्यूजिक क्लास में संगीत सुना और वहां के टीचरों के साथ बातचीत की।

वी/ओ-1- मीडिया से मुखातिब हुए डीजीपी ओपी सिंह ने रायबरेली जिला पंचायत सदस्यों के मामले पर किये गये सवाल के जवाब में कहा कि कल की घटना के ऊपर मुक़दमा दर्ज हुआ है, सभी जितने भी अपराधी है उनको बुक किया और शीघ्र ही उनकी गिरफ्तारी हो गी, रेड्स किये जाएंगे, एसपी को स्पष्ट आदेश दे दिए गये है के किसी भी दशा में अपराधी जिन्होंने ये अपराध किया है वो बक्शे नही जाएंगे, उनके ऊपर कार्यवाही होगी.उन्होंने कहा की पुलिसकर्मी अगर कोई भी होगा गलत काम करेगा उसे बक्शा नही जाए गा, और हमने पूरे दो साल में ऐसा पुलिस कर्मी जिसने गलत किया हो, कानून का पालन नही किया हो और आपको मालूम है के हमने एक इंस्पेक्टर को जेल भेजा है कल रात को हमने लखनऊ के सब इंस्पेक्टर को जो प्रतापगढ़ में पोस्टेड था उसने फायरिंग किया था उसको जेल भेजा और इस तरह की बाते जहाँ भी प्रकाश में आती है हमारे जितने भी ऑफिसर्स हैं उनको क्लियर कट इंस्ट्रक्शन मिला हैं के दे विल बी ट्रीटेट बाई क्रिमनल्स,  अगर किसी पुलिस वालों ने कोई कानून का उल्लंघन किया है उसे बक्शा नही जाए गा,

वी/ओ-2- यूपी में हुए ताबड़तोड़ एन्कोउन्टर के सवाल पर डीजीपी ने कहा की इंकाउंटर के ऊपर कोई कार्यवाही नही होती है हमारी,कोई स्टेट पालिसी नही है ,हमारा एंगेजमेंट होता है क्रिमनल्स के साथ और क्रिमनल्स अगर कोई अगर फायर करते है तो हम उसका जवाब देते है, हमने अभी तक कानून व्यवस्था को पूरे प्रदेश में कंट्रोल करके रखा है जिसकी तारीफ पंजाब हरियाणा हाइकोर्ट ने भी इसकी सराहना की है और हमारी पॉलिसी जो डेढ़ साल पहले थी वही अब भी है के हम अपराध और अपराधियों के प्रति कभी भी आक्रामक नही होते औऱ प्रदेश में कोई भी ऐसी जगह नही है जहाँ छोटे छोटे अपराध होते रहते है लेकिन जो संगठित अपराध है या फिर जिस तरह की बाते है उस पर हमने पूरा काम किया है।

बाइट-ओ पी सिंह(डीजीपी यूपी)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.