सीतापुर- अनूप पाण्डेय,आशुतोष अवस्थी/NOI-उत्तर प्रदेश के जनपद सीतापुर में सभी नियमों को ताक पर रखकर यहां सरकारी धन का जमकर बंदरबांट किया गया जहां सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के सख्त हिदायत के बावजूद भी सरकारी कर्मचारी ग्राम सचिव व ग्राम प्रधान ने ग्राम पंचायत से लगा के बरसाती नाले में जमकर घोटाला किया

आपको बताते चलें विकास खण्ड बिसवाँ के तालगांव थाना क्षेत्र के ग्राम कल्हापुर में हो रहा बरसाती नाले की सफाई जिसमें नाम करने की की गई सफाई सफाई के नाम पर ग्राम प्रधान संतोष कुमार वर्मा के द्वारा मनरेगा के तहत कराई गई सफाई एक धब्बा समान दिखाई दे रहा है जबकी नाले की ड्रेन की सफाई ऊपर सिरे से की जाती है वहीं पर भ्रष्ट प्रधान व् ग्राम सचिव मिलकर केवल ड्रेग की पूरी सफाई न करते हुए केवल आधे से कम सफाई करके छोड़ दिया गया है ना तो लगे जंगली पेड़ों को काटा गया और ना ही निचले स्तर की जमीन की सफाई की गई जो भी सफाई का मलवा बाहर न फेंकते हुये उसी नाले में दबाने का काम कराया गया है ग्राम प्रधान ने मनरेगा के तहत कराया गया कार्य जिसमें ग्राम प्रधान संतोष वर्मा व ग्राम पंचायत अधिकारी राजकुमार ने मनरेगा के तहत कराए गए कार्य में जमकर धांधली की गई है

न्यूज़ वन इंडिया में खबर प्रकाशित होते ही प्रधान आग बबूला हो गए और तो और समाचार पत्र के तहसील रिपोर्टर को प्रधान जी ने ₹5 लाख रुपया खर्च कर रिपोटर को जान से मार देने की धमकी भी दे डाली जब इस संबंध में जिला पंचायत राज अधिकारी इंद्र नारायण सिंह से बात की गई तो उन्होंने समस्त् जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है ।अब सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि भ्रष्टाचार को उजागर करने वाले पत्रकारों पर इस प्रकार से फोन पर धमकाया जा रहा है वहीं उच्च अधिकारी इस मामले से अनभिज्ञ नजर आ रहे हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.