दीपक ठाकुर:NOI।

2019 के वर्डकप में रविवार का दिन भारत के साथ साथ पाकिस्तान के लिए भी काकी खास था एक ओर जहां भारतीय प्रशंसक भारत को अंग्रेजों के खिलाफ जीतता हुआ देखने को व्याकुल थे तो वही पाकिस्तानी प्रशंसक भी इस मैच में भारत को जीतता हुआ देखना चाह रहे थे ऐसा इसलिए था कि अगर भारत इंग्लैंड को हरा देगा तो पाकिस्तान आसानी से सेमीफाईल में पहुंच जाएगी लेकिन रविवार को जो हुआ उसने पाकिस्तान ही नही भारतीय प्रशंसकों का दिल भी तोड़ कर रख दिया।

रविवार को भारत ने टॉस हारा और पहले गेंदबाजी की भारतीय गेंदबाज़ी भी ऐसी के इंग्लैंड आसानी से रन बनाता रहा और भारत देखता रहा और तो और जहां रिव्यू लेने की ज़रूरत थी वहां भी भारतीय कप्तान मज़ाक के मूड में ही नज़र आये जिसका नतीजा ये हुआ कि इंग्लैंड ने भारत को 338 का विशाल टारगेट दे दिया। टारगेट देखने के बाद दर्शको को लगा कि भारत इसको पूरा करने का मापदा रखता है लिहाजा जीत भारत की ही होगी लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के मंसूबे कुछ और ही नज़र आ रहे थे।

भारतीय पारी के पहले दस ओवर में भारत लगभग 32 रन पे एक विकेट गंवा चुका था उसके बाद भी प्रशंसकों को लगा कि अभी भारत मे बड़ा दमखम बाकी है ये टारगेट पूरा हो के रहेगा लेकिन भारतीय पारी ने जिस तरह रन बनाये उससे ये लगने लगा था कि यहाँ भारत जीत के लिए नही खेल रहा बल्कि वो हार के अंतर को कम करना चाह रहा है।

अब आइये आखरी के दस ओवर में जहां भारत को 60 गेंद पर 104 रन बनाने थे और 6 विकेट हाथ मे थे ऐसी स्थिति में कोई अंधा भी बता सकता था कि यहां से भारत हार नही सकता लेकिन हार्दिक,धोनी और केदार ने जिस तरह की बल्लेबाजी की उससे साफ जाहिर हो गया कि भारत ये मैच जितना ही नही चाहता है क्योंकि वो जानता है कि उसकी यहाँ की जीत पाकिस्तान को तोहफा देने के ब्रारबर है जो शायद इस भारतीय टीम को मंजूर नही था क्योंकि पूरा मैच देखने पर कहीं भी ऐसा नही लगा कि भारत इस मैच को जितना चाहता है हां विराट और रोहित के जज़्बे को ज़रूर हमारा सलाम है लेकिन बाकी टीम इंडिया ने जो हाल दिखाया वो वाकई शर्मनाक है।अरे सरहद की दुश्मनी को खेल के मैदान पे ज़ाहिर करना ये कैसा खेल स्प्रीट है आप लड़ के हारते तो सिरमाथे पर थे पर आपने तो ऐसी नाक कटाई के हमको शर्मिंदा कर दिया एक पाकिस्तान की खुन्नस ने आपको अंग्रेज़ो के हाथों मरवा दिया बड़ा अफसोस हुआ आपका मैच देख कर लगता है कि आपको प्रशसकों से कहीं अधिक सट्टे का भाव भा गया सॉरी टीम इंडिया आपने तो दिल ही दुखा दिया लड़ कर हारते तो हार को भी गले का हार मान लेते पर जीता हुआ मैच हरा दिया अफसोस मुझे इस मैच का गवाह बना दिया।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.