बीते कई दिनों से तराई के जनपद बहराइच में हो रही बारिश से सामान्य जनजीवन अस्त व्यस्त होकर रह गया है,नेपाल की पहाड़ियों पर हो रही लगातार बारिश ने भारतीय क्षेत्रों में भी उसका असर डालती नजर आ रही तो वहीं नेपाल से छोड़े गये पानी की वजह से भारतीय क्षेत्र के नानपारा तहसील के विभिन्न गांवों में स्थिति काफी भयानक हो गयी है,सैकड़ों भीगा फसल नष्ट होती नजर आ रही है,इस मानसूनी बारिश और छोड़े गये पानी की वजह से सरयू सहित तमाम नदियां उफान पर पहुंच गई हैं और जिला मुख्यालय से सटे सरयू के इलाकों सहित तमाम गांवों में बरसात का पानी घुस गया है,सम्पर्क मार्ग टूट गये है और लोगों के सामने आवागमन की समस्या उतपन्न हो गयी है वहीं दूसरी तरफ इस बारिश का असर घाघरा नदी पर भी पड़ता नजर आ रहा है,जरवल रोड़ में एल्गिन ब्रिज पर घाघरा का जल स्तर निरन्तर बढ़ता जा रहा तो उसी की वजह से क्षेत्र की तहसील
कैसरगंज में घाघरा की कटान जारी है, तहसील के मंझारा तौकलीे समेत दर्जनों गांव में घाघरा की कटान ने कहर बरपा कर दिया है पिछले एक हफ्ते से लगातार होने वाली से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है किसान परेशान हैं,उनके आशियानों के मुहाने पर नदी पहुंच गई है,बाढ़ की संभावना को देखते हुए प्रसासनिक अधिकारी प्रभावित इलाकों में ट्रक्टर से पहुँच कर स्थिति का जायज़ा लिया और लोगों को गांव खाली कर सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी,वहीं ग्रामीण गंगा मैया के कहर से खुद को बचाने के लिये हवन कर उन्हें मनाने में जुटे हुए हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.