सीतापुर-अनूप पाण्डेय/NOI-यूपी जहा सूबे मुखिया योगी आदित्य नाथ के सख्त निर्देशों के बाउजूद भी सीतापुर में प्राइवेट जच्चा बच्चा केंद्र शेखर हॉस्पिट के नाम से संचालित नाबालिक लड़कियों का एबॉर्शन कर भ्रूण हत्या की जाती है वही सीतापुर के स्वास्थ्य विभाग भी शक के घेरे में था , जोकि बीती रात में सूत्रों से मिली जानकारी पर न्यूज़ वन इंडिया की टीम शेखर हॉस्पिटल में पहुची तो वहां के डॉक्टर से फोन पर बात हुई तो उन्होंने हॉस्पिटल देखवाने की बात फोन से हुई तो स्टाप की लड़की बोलती है सर दो लड़कियों के अबॉर्शन किये गए है। जिसकी आडियो रिकॉर्ड हो जाती है ।जिस पर मिडिया टीम द्वारा स्वास्थ्य विभाग को सूचना देने के बावजूद भी स्वास्थ्य विभाग का कोई भी कर्मचारी नहीं मौके पर नही आया यहां तक कि सीएमओ ने फोन रिसीव करना भी बंद कर दियाआप को बताते चले कि सीतापुर नगर कोतवाली क्षेत्र के नैपालापुर में शेखर हॉस्पिटल मैं अवैध तरीके से दो लड़कियों के एबॉर्शन कर भ्रूण हत्या कर फेंक दिया जाता है जिस पर मीडिया के कुछ लोगों ने स्वास्थ्य विभाग के आला अधिकारी सीएमओ को फोन कर तत्काल सूचना दी मगर 2 घंटे तक इंतजार करने के बाद भी मीडिया टीम वहां से वापस आ गई सूत्रों की मानें तो स्वास्थ्य विभाग की इन मामलों में साफ तौर से संलिप्त दिख रही है यही कारण रहा कि स्वास्थ्य विभाग का कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा और उन दोनों लड़कियों को भी एबॉर्शन होने के बाद दो लड़के आते हैं और उनको मोटरसाइकिल पर बैठाकर लेकर चले जाते हैं ।तस्वीरें साफ बयां कर रही हैं की नाबालिक लड़कियों के अबॉर्शन कर भ्रूण हत्या की जाती है लेकिन स्वास्थ्य विभाग के कानों पर जूं तक नहीं रहता हैजब इस संबंध में सी एम ओ आर के नैय्यर के आवास पर मीडिया टीम ने पूछा तो जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया । वही करीबन 12 बजे अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी सुरेंद्र शाही और डॉक्टर अस्थाना व उनकी टीम शेखर हॉस्पिटल पर छापामारी कर सभी दस्तावेज खंगाले और मौके पर कोई भी डॉक्टर नहीं पाया वही एनम आकांक्षा वर्मा द्वारा बयान लेकर शेखर हॉस्पिटल को सीज कर कार्यवाही की ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.