सीतापुर-अनूप पाण्डेय,देवदत्त त्रिपाठी/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर जिले के गोंदलामऊ क्षेत्र में मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार सुबह भी कुछ ऐसा ही हुआ। औरंगाबाद ग्राम पंचायत के दहेलरा गांव में सात वर्षीय बुखार से पीड़ित बालक ने दम तोड़ दिया। परिजनों का कहना है कि सीतापुर के बाद उसको दिल्ली तक इलाज कराने के लिए ले जाया गया था।

बताते हैं कि रामशंकर का सात वर्षीय पुत्र अर्पित बुखार की चपेट में बीते एक सप्ताह पूर्व आया था। सोमवार सुबह करीब पांच बजे मासूम ने दम तोड़ दिया। परिजनों ने बताया है कि अर्पित को आए बुखार के बाद तेज झटके आने शुरू हो गए थे। जिसके चलते मिश्रिख और सीतापुर के बाद उसे दिल्ली के कई अस्पतालों में दिखाया गया। बीते दिन कुछ सुधार होने पर उसे पैतृक गांव दहेलरा लाया गया।
सोमवार सुबह बच्चे की अचानक फिर हालत बिगड़ गई। इलाज के लिए ले जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई। अर्पित अपने मां-बाप का इकलौता पुत्र था। बच्चे की मौत के बाद गांव में कोहराम मच गया है।

अभी हैं दो दर्जन लोग बीमार
ग्रामीणों का कहना है कि गांव में करीब दो दर्जन लोग विचित्र बीमारी की चपेट में अभी भी है। इलाज के बाद भी सेहत में सुधार नही हो पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी जाने वाली लाल-पीली गोलियां भी संक्रमण को कम नहीं कर पा रही हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.