सीतापुर-अनूप पाण्डेय,NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर मे प्रधान मंन्त्ती आवास योजना की कन्टी जेन्सी मे करोडो रूपये का घोटाला टाईल्स लोको लगवाने के नाम पर सभी खण्ड विकास अधिकारी के साथ साथ परियोजना निर्देशक ने मिली भगत कर के कंई करोड रूपये का टाईल्स एक ही फर्म से बगैर टेन्डर किये खरीदवा लिया है।

जबकि पूर्व मे प्रधान मन्त्ती आवास पर लेखन कार्य वर्ष 2016/17/18/मे कराया भी गया है फिर भी 89000 टाईल्स खरीद लिया गया जिसकी प्रतिपीस की कीमत 360/रूपये की दर खरीद की गयी है वह भी बगैर टेन्डर के 19/ विकास खंन्डो मे एक साथ खरीदवा दिया गया है वह भी आयुक्त ग्राम्य विकास के आदेशो के आदेश के विपरीत जबकिआयुक्त ग्राम्य विकास ने अपने पत्त के पत्ताक संख्या 2003/दिनाँक 8/11/2017 मे प्रधान मंत्री आवाश पर लोको के साथ नाम पटटिका लेखन कार्य कराने का आदेश दिया था फिर भी लेखन पहले भी किया जा चुका था सूत्रों की माने तो जनपद में कोई ये नया खेल नही सरकार चाहे सपा की हो या बीजेपी की घोटाले लगा तार होते ही आये है जिसमे जिला प्रसाशन पे कोई फर्क नही पड़ता ।इतना जिले के उच्च अधिकारीयों की मिली भगत से सभी खण्ड विकाश अधिकारी की मिली भगत करके टाईल्श खरीदे गये और कंई करोड रूपये का घोटाला किया गया वह भी उस समय जब केन्द्र और राज्य सरकार भ्रष्टाचार मुक्त का सपना लोगो को दिखा रही है उस समय राज्य सरकार के जनपद मे बैठे अधिकारी करोडो का घोटाला करने मे मस्त दिखाई दे रहे है न ही उनको सरकार का डर है ऐसे बैठे अधिकारी क्या प्रधान मन्ती और मुख्य मन्त्ती जी का सपना भ्रष्टाचार मुक्त का पूरा होने देगे इससे यह प्रतीक होता है कि जनपद मे बैठे अधिकारी न राज्य सरकार से डरते है न कोई कानून से डरते है इसलिये अपनी मर्जी करंने मे मस्त है और सरकार के धन का बन्दर बाँट करने मे लगे हुये है अगर इसकी जाँच जनपद की किसी ऐजन्सी से कराई जाये वह भी बर्तमान परियोजना निर्देशक को जनपद से हटाते हुये कराई जाये तभी निष्षक्ष जाँच हो पाना सम्भव होगा और सत्यता सभी के सामने आ पायेगी ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.