सीतापुर-अनूप पाण्डेय,अनुराग अवस्थी/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर में पानी को बढ़ती जरूरत व पानी के गिरते जलस्तर को देखते हुए सरकारों ने ग्रामपंचायतों में पानी की टंकियों का निर्माण कराया था जिससे आस पड़ोस के दस से बीस गावो तक पानी को पहुचाया जा सके।पानी की टंकिया तो कुछ जगहों पर बन गयी लेकिन दस से ज्यादा वर्ष बीत जाने के बाद अभी आज तक ग्रामीणों की पानी की दिक्कत जस की तस है।पानी की समस्या में कोई बदलाव नही हो सका।

विकास खंड मछरेहटा के रालामऊ में पानी की किल्लत के चलते लाखो की लागत से पानी की टंकी का निर्माण बारह वर्ष पहले शुरू हुआ जो तीन वर्षो में बनकर तैयार भी गयी।जिसकी क्षमता दो सौ किलोलीटर है अब बात गावो तक पानी की सप्लाई पहुचने की आयी तो घटिया क्वालिटी की पाइप लगाकर जहानपुर,बैसनपुरवा,बाँसखेरा, बहादुरपुर,रालामऊ गावो तक सप्लाई पहुँचाने का कार्य भी पूरा किया गया।अब बात थी टंकी में पानी भरने की जिससे गावो तक पानी पहुचाया जा सके।नलकूप विभाग की एक वर्ष की मेहनत के बाद बिजली का कनेक्शन हुआ।दो वर्ष जैसे तैसे एक आध गावो में सप्लाई पहुँची।जिसके बाद ट्रांसफार्मर फुक गया।अब दोनों विभाग एक दूसरे का मुह ताकते रहे पर दूसरा ट्रांसफार्मर नही आया। जिसके बाद नलकूप विभाग ने मजबूर होकर सौर ऊर्जा प्लांट लगाने का निर्णय लिया। जिस पर भी लाखों रुपया खर्च करते हुए वर्ष 2012 में 235 वाट की 51 प्लेट लगाई गई।जिससे टंकी में पानी जाना तो दूर डायरेक्ट सप्लाई चलाने पर सिर्फ तीन नल ही चलते है वह भी सिर्फ गर्मी के दिनों में।वर्तमान स्थिति में घटिया क्वालिटी की सप्लाई लाइन भी अब पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है,छः सौर ऊर्जा प्लेट खराब हो गए व एक चोरी भी हो गया। जिसका सुधार कराने में भी लाखों का खर्च आने वाला है। आज भी रालामऊ बाजार में चार हैण्डपम्प खराब है

नल कूप चालक उमाकांत शुक्ला ने बताया कि 2010 में पानी की टँकी प्रधान के सुपुर्द की गई थी तब से इसे हम ही देख रहे है हमे कोई तनख्वाह भी नही मिलती,गावो तक पानी की सप्लाई नही पहुच रही, पानी की टंकी से संबंधित कोई भी कार्य के लिए प्रधान से कहा जाता है तो कहते है कि इसका कोई बजट नही आता।

रालामऊ निवासी बबलू ,हरिशंकर ,बिरिन्द, हरिश्चन्द्र,रामायण,सोभित का कहना है कि गांव में लाखों की लागत से गांव में पानी की टंकी तो बना गयी लेकिन कोई फायदा नही हुआ,आज तक किसी भी गांव को पानी ही नही पहुचाया जा सका,पहले ट्रांसफार्मर खराब था अब सौर ऊर्जा प्लांट लोड नही उठापाता व सप्लाई लाइन भी पूरी तहर से खराब हो चुकी है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.