इरफान शाहिद: NOI!

महाराष्ट्र में बीती रात ऐसा सियासी भूकम्प आया जिसने शिवसेना कांग्रेस और एनसीपी को छतिग्रस्त कर के रख दिया क्योंकि कल तक महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री बनने की बात तय नज़र आ रही थी लेकिन अगली सुबह जो खबर आई उसने फिर बता दिया कि मोदी हैं तो मुमकिन है।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद और भाजपा शिवसेना के टकराव के बाद एनसीपी ही एक ऐसी पार्टी मानी जा रही थी जो सरकार बनाने में अहम भूमिका में नज़र आ रही थी लेकिन पवार के पावर ने वहां का सारा खेल ही पलट कर रख दिया जो शरद पवार और अजीत पवार कल शिवसेना के साथ मीटिंग कर रहे थे उनमें से अजीत पवार ने ऐसी पलटी मारी के महाराष्ट्र को भाजपा की सरकार दे दी और खुद उप मुख्यमंत्री बन गए।

मतलब साफ है कि जिस एनसीपी के टूटने का डर था वो आखिरकार रात के अंधेरे में टूट ही गई जिसका ज़िम्मेदार कोई और नही सिर्फ भाजपा है ये आरोप शिवसेना के नेता संजय राऊत लगा रहे हैं।वैसे अभी भी सत्ता का ये खेल इतना आसान नही होगा क्योंकि भाजपा और एनसीपी के 22 विधायक जो अभी साथ हैं ये आंकड़ा भी बहुमत से 18 अंक दूर है।

अब महाराष्ट्र में कैसे बहुमत साबित करेगी भाजपा ये उसके लिए बड़ा चैलेंज होगा वही शरद पवार अपनी पार्टी को कैसे संगठित कर पाएंगे ये भी देखना होगा और क्या शिवसेना महाराष्ट्र में हाशिये पर आ कर चैन से बैठी रहेगी ये भी देखने वाली बात होगी फिलहाल महारष्ट्र में एक बार फिर भाजपा सरकार आ चुकी है लेकिन शिवसेना की उससे दूरी बरकरार है।संजय राऊत का आरोप है कि सत्ता बल और धन बल पर भाजपा ने रात के अंधेरे में ये डाका डाला है जिसका खामियाजा उसे भुगतना पड़ेगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.