Sulg-
रिपोर्ट-अनूप पाण्डेय.मनीष मिश्रा

Anchor-यूपी सीतापुर जिले में कैसे शासन का सपना होगा पूरा, “जब सब पढ़े आगे बढ़े”, “स्वच्छ भारत मिशन”, ” मिड डे मील” योजनाओं को पलीता लगा रहे जिम्मेदार प्रदेश की सरकार भले ही जिम्मेदारों को कड़ी हिदायत दे रहे हैं लेकिन ग्रामीण अंचल मे सरकार की योजनाओ को जिम्मेदार अधिकारी पलीता लगाने में कोई कसर नहीं छोड़ रखी है इन सबका जीता जागता उदाहरण जनपद सीतापुर के विकास खंड रामपुर मथुरा में प्राथमिक विद्यालय पुराना टिकठा मे “सब पढ़े आगे बढ़े”, “स्वच्छ भारत मिशन”, ” मिड डे मील” इन सभी योजनाओं को जिम्मेदार मज़ाक बना रखा है जब मीडिया टीम द्वारा 12:35 बजे पड़ताल किया तो हकीकत सामने आयी ।
आप को बताते चले सीतापुर के रामपुर मथुरा के इस विद्यालय मे चार अध्यापक कार्यरत है लेकिन मीडिया टीम की पड़ताल मे सिर्फ एक अध्यापक ही शिव कुमार प्रधानाध्यापक उपस्थित थे वह भी कुर्सी पर बैठे आराम फरमा रहे थे हरिशरण सहायक अध्यापक, प्रदीप कुमार वर्मा सहायक अध्यापक नदारद मिले विद्यालय मे 135 छात्र पंजीकृत है जिसमे मात्र आधे से भी कम 65 छात्र उपस्थित थे जो इधर उधर खेल रहे थे ।

स्वच्छ भारत मिशन की खुलेआम उड़ाई जा रही धज्जिया सरकार द्वारा स्वच्छ भारत मिशन अभियान जोरो पर चलाया जा रहा है लेकिन यहाँ पर धरासाही है यहाँ पर शौचालयो मे ताला लटक रहा है प्रधानाध्यापक ने बताया कि मिट्टी भरी है गटर टूटा है निष्प्रयोज्य है इसलिए ताला लगा हुआ है वही विद्यालय के गेट पर कूड़े का ढेर भी लगा है ।

बच्चों को दिया जाने वाले मिड डे मील मे भी भारी खामिया :
इस विद्यालय मे यह भी सामने आया कि दोपहर के 12:00 बजे मध्यावकाश को भी भोजन तैयार नहीं था भोजन मे सब्जी तैयारी हो चुकी थी लेकिन सब्जी की गुणवत्ता ठीक नहीं थी उसमे आलू और पानी नजर आ रहा है और चावल बनाने की तैयारी हो रही थी वही बच्चों को अभी तक स्वेटर भी नही मिले है जहाँ एक ओर ठण्ड दस्तक दे चुकी है घना कोहरा भी पड़ता है वहीं छोटे छोटे नौनिहाल जो पढ़ने आते उन्हें लापरवाहों की मनमानी से स्वेटर तक नसीब नहीं हो पाया बच्चों ने टीम के सामने अपना दर्द बयां किया ।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.