लख़नऊ,15 जनवरी 2020: हमारे समाज की बड़ी विडंबना है, कि आज के जागरूक माहौल में भी रंग के आधार पर बहुत ही भेद किया जाता है। अगर आप गोरे हैं, तो आप बेहद ख़ूबसूरत हैं और अगर आप साँवली रंगत वाले हैं, तो आपकी सारी ख़ूबियों को नज़रअंदाज़ कर, आपके साँवलेपन को आपकी सबसे बड़ी कमी क़रार दे दिया जाता है। लेकिन, वास्तव में किसी की ख़ूबसूरती गोरे या काले रंग से नहीं, बल्कि उसकी अंदरूनी ख़ूबियों से होती है और किसी के रंग से प्रभावित न होकर, उसके जीने के ढंग से प्यार करने वाले लोग भी दुनिया में मौजूद हैं।

स्टार भारत एक ऐसी ही दिल को छू देने वाली ख़ूबसूरत कहानी ‘कार्तिक पूर्णिमा’ लेकर आ रहा है। यह कहानी है अमृतसर में रहने वाली ‘पूर्णिमा’ की है, जिसका रंग भले ही साँवला है पर उसका मन उतना ही साफ़ है। पूर्णिमा को लगता है कि उसका साँवला रंग उसकी माँ का आशीर्वाद है और उसे अपनी साँवली रंगत पर कोई अफ़सोस नहीं है, लेकिन पूर्णिमा की सौतेली माँ और बहन के अलावा भी समाज के कई लोग उसके रंग को लेकर उसे ताने मारते रहते हैं। इन सभी तनावों से जूझते हुए भी पूर्णिमा अपने आत्मविश्वास पर अडिग रहती है। इसी बीच उसकी ज़िंदगी में आता है ‘कार्तिक’, जो पूर्णिमा के रंग पर नहीं, उसके जीने के ढंग पर मर मिटता है। वो पूर्णिमा को उसी रूप में स्वीकार करता है, जैसी वो है। कार्तिक और पूर्णिमा का प्यार परवान चढ़ता है और असल मुसीबतें तो तब शुरू होती है जब यह दोनों शादी कर लेते हैं

कार्तिक की माँ को साँवले रंग वालों से सख़्त नफ़रत है। ऐसे में अपनी ही बहू को इस रूप में स्वीकार करना उनके लिए नामुमकिन हो जाता है। अपनी सास का दिल जीतने की कोशिश से शुरू होती है पूर्णिमा की असली लड़ाई। आख़िर कैसे लड़ेगी पूर्णिमा यह लड़ाई ? क्या वो अपने आत्मविश्वास और प्यार की ताक़त से कार्तिक की माँ के दिल में जगह बना पाती है? क्या रंगभेद करने वाले इस समाज को वह मुँहतोड़ जवाब दे पाती है? जानने के लिए देखिए साँवली सलोनी पूर्णिमा और असली ख़ूबसूरती को पहचानने वाले कार्तिक के प्यार की कहानी ‘कार्तिक पूर्णिमा’ जल्द ही, सिर्फ़ स्टार भारत पर।

रोलिंग पिक्चर्ज़ द्वारा प्रोड्यूस किए जाने वाले ‘कार्तिक पूर्णिमा’ शो को दर्शक आने वाली 3 फ़रवरी से, सोमवार से शनिवार, रात 8.30 बजे, सिर्फ़ स्टार भारत पर देख सकेंगे। इस शो के मुख्य किरदारों में आकर्षक और प्रतिभावान ऐक्टर हर्ष नागर, डस्की ब्यूटी का उदाहरण पेश करने वाली ख़ूबसूरत ऐक्ट्रेस पौलमी दास हैं, और कार्तिक की माँ का किरदार मँजी हुई कलाकार और चर्चित अदाकारा कविता घई निभा रही हैं।

शो में कार्तिक का किरदार निभा रहे ऐक्टर और मॉडल हर्ष नागर ने बताया,”यह किरदार मेरे लिए बहुत अलग है। मैंने इससे पहले केवल टीनएज वाले किरदार निभाए हैं। इस शो में मैं कार्तिक का किरदार निभा रहा हूँ, जो एक नामी सर्जन है। माँ के आदर्शवादी बेटे कार्तिक को एक साँवली लड़की से प्यार हो जाता है, जिसका सफ़र कार्तिक और पूर्णिमा साथ मिलकर तय करते हैं। ‘कार्तिक पूर्णिमा’ शो की कहानी एक ख़ूबसूरत लवस्टोरी है, जिसमें ये दोनों समाज की रूढ़िवादी सोच से लड़कर, अपने प्यार को पूरा करते हैं।“ लखनऊ विज़िट पर बात करते हुए हर्ष ने कहा “यह शहर बड़े अदब वाला है, जो मुझे यहाँ के लोगों में दिखाई भी दिया। यहाँ के ज़ायक़े का तो जवाब ही नहीं, मैं अपनी उंगलियाँ चाटता रह गया।”

शो के प्रमोशन के लिए लखनऊ पहुँची ऐक्ट्रेस पौलोमी दास ने बताया “बतौर लीड ऐक्ट्रेस यह मेरा पहला शो है ।मैं ख़ुद को बहुत लकी समझती हूँ कि पूर्णिमा के किरदार के लिए मुझे चुना गया । इस शो के कॉन्सेप्ट के ज़रिए मैं समाज को सूरत नहीं सीरत का महत्व समझा पाउंगी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.