सीतापुर-अनूप पाण्डेय, मयंक तिवारी /NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर. प्रदेश सरकार जहाँ एक तरफ गाँवो की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए और महिलाओं को शिक्षित किये जाने के लिए लाखों रुपये खर्च करके आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थापना करवाती हैं।लेकिन जिम्मेदारों की खाऊ कमाऊ नीति के चलते बने हुए आंगनबाड़ी केंद्र भ्रष्टाचार की भेंट चढ़े हुए हैं।ग्राम पंचायत बन्नी खरैला मे सरकार द्वारा आंगनबाड़ी केंद्र बनवाये हुए लगभग 10 वर्ष हो रहे हैं लेकिन अभी तक बना हुआ आंगनबाड़ी केंद्र की सौगात ग्रामीणों को नही मिली है।लाखो रुपये से बने हुए आंगनबाड़ी केंद्र मे न तो खिड़कियां है और न ही उचित संसाधन है।

ग्रामीणों ने आंगनबाड़ी केंद्र की दुर्व्यवस्था के बारे मे उच्चाधिकारियों को अवगत कराया गया है लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।प्रदेश सरकार की योजनाओं मे जिम्मेदार लोग बंदरबाट करके सरकार की किरकिरी करने में लगे हैं जब इस संबंध में खंड विकास अधिकारी बिसवां से बात की गई तो मोबाइल की घंटी बजती रही लेकिन उन्होंने फोन उठाना मुनासिब नहीं समझा।अब देखना होगा कि सरकार इस संबंध में क्या रुख अपनाती है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.