स्लग –

रिपोर्ट-अनूप पाण्डेय

एंकर – सीतापुर के तंबौर समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आज उस वक्त हड़कंप मच गया जब खांसी जुकाम से पीड़ित एक व्यक्ति डॉक्टर को दिखाकर दवाई लेने आया उसे मौजूद डॉक्टर ने कोरोना संदिग्ध मानते हुये। सी एच सी अधीक्षक डॉ. संजय गौड़ को सूचना दी जिन्होंने उससे बीमारी की जानकारी ली और लक्षण देखते हुये तुरंत आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करवाया उन्होंने फोन से इसकी सूचना जिला चिकित्सा अधिकारी सीतापुर को दी जिनके निर्देश पर संदिग्ध मरीज को आइसोलेशन वार्ड से निकाल कर एम्बुलेन्स के द्वारा सीतापुर जिलाअस्पताल भेजा इसके तुरंत बाद सी एच सी को सेनेटाइज करवाया गया जानकारी के मुताबिक अनिल कुमार आयु 24 वर्ष पुत्र गुरु प्रसाद जोकि ग्राम इकबालपुर पी एस व जिला खीरी काफी दिनों से दिली में रहकर काम करता था जहां से चलकर वो 9 मार्च 2020 को सीधे थाना क्षेत्र तंबौर में पड़ने वाले ग्राम ननुही ससुराल पहुंचा कुछ दिन बाद खांसी जुकाम की शिकायत होने पर 15 मार्च को सी एच सी के डॉक्टर अजय को दिखाकर दवाई ली लेकिन कुछ खास फायदा नही हुआ। इसके बाद सर्दी खांसी बुखार न ठीक होने पर 26 मार्च को सी एच सी में मौजूद डाक्टर प्रदीप श्रीवास्तव को दिखाकर दवाये ली बावजूद इसके उसकी सेहद में कोई सुधार नही हुआ तो आज जब वह अस्पताल पहुंचा तो उसे तेज खांसी , तेज बुखार व सांस फूलने जैसे लक्षण दिखने पर डॉक्टरों को कोरोना होने का संदेह हुआ जिसके बाद उसे तुरंत आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर जिले के अधिकारियों को सूचित किया गया और तोड़ी ही देर बाद उसे एम्बुलेन्स में बैठाकर जिला अस्पताल रवाना कर दिया गया।
इस सम्बंध में सी एच सी अधीक्षक संजय गौड़ का कहना है कि कोरोना होने की पुष्टि जांच होने के बाद हो पायेगी परंतु कोरोना होने पर व्यक्ति में दिखायी पड़ने वाले खांसी, बुखार ,सांस फूलने जैसे लक्षण मरीज में दिखाई पड़ते है ।अस्पताल द्वारा बाहर स्थानों से अपने गांव लौट हुये कस्बा तंबौर ,दुगाना, मितमाउ, सरजू पुरवा, भमैला,मंगलपुरवा ,औरंगाबाद सहित कई गांवों के 150 से अधिक मरीजो का स्वास्थ्य परिक्षण किया जा चुका है तथा उन्हें 14 दिनों तक अलग रहने की हिदायद भी दी गयी है।

बाईट –

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.