Breaking NewsCrimeNewsउत्तर प्रदेशबड़ी खबर

मीडियाकर्मी के माता-पिता पर हमले का मामला: आज तक, वायर, एनडीटीवी और अमर उजाला समेत 13 मीडिया संस्थाओं के पत्रकारों ने एसपी को लिखा पत्र

सख्त कार्रवाई की मांग करने वालों में न्यूज वन इंडिया के प्रधान संपादक समेत सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के वकील भी

पुलिस अधीक्षक बहराइच

नानपारा, बहराइच । मीडियाकर्मी प्रियांशू (26) के माता-पिता पर जानलेवा हमला करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के लिए देश की 13 प्रमुख मीडिया संस्थाओं से जुड़े पत्रकारों ने एसपी बहराइच को पत्र लिखा है। बुधवार को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से ईमेल के जरिये भेजे पत्र में मामले की उचित जांच कर पत्रकार प्रियांशू के परिवार को न्याय और पूरे भवनियापुर गांव को गुंडागर्दी से मुक्ति कराने की दरख्वास्त की गई है। अपील करने वालों में वरिष्ठ पत्रकार और न्यूज वन इंडिया के प्रधान संपादक मोहम्मद इरफान शाहिद समेत सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के वकील भी शामिल हैं।

पत्रकार प्रियांशु के माता – पिता

पत्र इस प्रकार है:-

सेवा में,
एसपी बहराइच (उत्तर प्रदेश)

विषय:- साथी मीडियाकर्मी के माता-पिता पर जानलेवा हमले में अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग के संबंध में।

महोदय,

13 जून, 2020 को हमारे साथी पत्रकार प्रियांशू के बुजुर्ग माता-पिता पर उनके गांव पर गुंडों ने घर में घुसकर जानलेवा हमला कर दोनों को अधमरा कर दिया। घटना जिला बहराइच स्थित नानपारा कोतवाली के भवनियापुर रामगढ़ी गांव की है। नानपारा कोतवाली पुलिस ने इस मामले में एफआईआर तो दर्ज कर ली लेकिन अपराधियों के पुलिस से संबंध होने की वजह से हमलावर कुछ घण्टे बाद ही छूट गए।

आरोपी राकेश

हमलावर राकेश, मुकेश, बाबू और लाला पुत्रगण हरिराम छूटते ही प्रियांशू के पिता राधेश्याम गुप्ता को केस वापस लेने के लिए धमकाने पहुंच गए। समझौता कर लेने का दबाव बना रहे हैं, परिणाम भुगतने की धमकी दे रहे हैं। अपराधियों के खुला घूमने से मीडियाकर्मी का परिवार सहमा हुआ है। महोदय आपसे अवगत कराना चाहते हैं कि अपराधी गांव में आए दिन किसी न किसी से मारपीट करते रहते है। पिछले दिनों गांव के पूर्व प्रधान के ऊपर हमला किए थे, वह मामला भी वहीं दब गया। पूरा गांव इनकी गुंडागर्दी से त्रस्त है क्योंकि पुलिस से इनके संबंध होने की वजह से कोई कार्रवाई नहीं होती है या पीड़ित शिकायत करने का साहस नहीं जुटा पाते हैं।

मारपीट के बाद हमलावरों की ओर से की गई तोड़फोड़।

वर्तमान स्थिति में मुख्य हमलावर राकेश मटेरा थाने में बावर्ची है। वह गांव में कहता घूम रहा है कि उसका पुलिसवालों के साथ उठना-बैठना है कोई हमारा क्या उखाड़ लेगा। राकेश की आपराधिक गतिविधियों को मटेरा थाने के एसएचओ का समर्थन मिला हुआ है। जब तक एसएचओ मटेरा अपने पद पर हैं, हमें उचित कार्रवाई उम्मीद नहीं है। एसएचओ मटेरा को उनके पद से हटाया जाए और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी जांच करें कि वह राकेश जैसे कितने और आपराधिक मानसिकता वाले लोगों को शह दिए हुए हैं, इस सबके पीछे उनका असल प्रयोजन क्या है और क्यों उन्हें पुलिस की छवि का खयाल नहीं है? किसी भी थाने की पुलिस अभियुक्त को दोबारा कभी भी काम पर न रखे और पुलिस साथी प्रियांशू के परिवार की सुरक्षा का आश्वासन दे। हमें पूर्ण आशा है कि आप न्याय की उम्मीद टूटने नहीं देंगे। फिलहाल पुलिस टालमटोल कर रही है, अतः श्रीमान से निवेदन है कि मामले की उचित जांच कर सभी दोषियों को कड़ी सजा दिलाकर हमारे साथी पत्रकार के परिवार के साथ-साथ पूरे गांव को दबंगों से मुक्ति कराएं।

प्रियांशू दिल्ली में पत्रकार हैं। वह अमर उजाला और राजस्थान पत्रिका जैसे अखबारों में काम कर चुके हैं। महामारी के कारण राष्ट्रीय राजधानी में फंसे हुए हैं।

प्रार्थीगण

1- बद्री नाथ, हरिभूमि अखबार में कॉलमिस्ट (नई दिल्ली)

2- रजनीश सिंह, सीनियर सब एडिटर, लोकमत हिंदी
(नोएडा)

3- कोमल बड़ोदेकर, ग्राउंड रिपोर्ट संपादक (दिल्ली)

4- अमन गुप्ता, आज तक (नोएडा)

5- पूनम, ग्रांउड रिपोर्ट (नई दिल्ली)

6- विशाल जायसवाल, द वायर (नई दिल्ली)

7- पंकज मिश्रा, अमर उजाला (गुरुग्राम)

8- आदिल वसीम, इनशॉर्ट्स (नोएडा)

9- विकास दयाल, एक्टिविस्ट-पत्रकार (मेरठ)

10- इरफान शाहिद, एडिटर न्यूज वन इंडिया (लखनऊ)

11- प्राची राजपूत, एंकर ईटीवी भारत (हैदराबाद)

12- ज्ञान प्रकाश, एडवोकेट लखनऊ हाईकोर्ट

13- सुष्मिता दीक्षित, पत्रकार (लखनऊ)

14- अभिलाष श्रीवास्तव, जर्नलिस्ट (दिल्ली)

15- विपुल चतुर्वेदी, एडवोकेट सुप्रीम कोर्ट
(दिल्ली)

16- रणवीर सिंह, प्रिंसिपल कॉरेस्पोंडेंस एबीपी न्यूज, लखनऊ

17- जनार्दन पांडेय, नेटवर्क-18, नेशनल टीम

18- इम्तियाज अहमद, 4PM, लखनऊ एडिशन

19- रवि कौशल, जर्नलिस्ट (दिल्ली)

20- सोनिया सिंह, मीडियाकर्मी (दिल्ली)

21- पल्लव जैन, एनडीटीवी (दिल्ली)

दिनांक: 17 जून, 2020

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close
Close