Breaking NewsCrimeNewsउत्तर प्रदेश

आगरा में मोबाइल व गहने चोरी होने की शिकायत पर पुलिस ने नहीं की कोई सुनवाई, 15 दिन के भीतर हुई 3 चोरियां

पुलिस चौकी शास्त्रीपुरम, आगरा

न्यूज़ वन इंडिया, आगरा । 14 जून रविवार के सुबह लगभग 2 बजे के करीब मकान न. LIG बी-229, ब्लॉक-बी शास्त्रीपुरम सिकंदरा में किराये के मकान में रहने वाले निरंजन सिंह व उनकी पत्नी के दोनों मोबाइल फ़ोन, गहने, स्कूटी की चाभी व वॉलेट चोरी हो गए। गनीमत यह थी उनकी पत्नी की आँख खुल गयी और चोर को देखते ही चिल्लाना शुरू किया। जब तक निरंजन उठते चोर उनकी दीवर से कूद कर भागने में कामयाब हो गया। उन्होंने तुरंत स्कूटी की दूसरी चाभी से स्कूटी स्टार्ट कर उनका पीछा किया लेकिन वो रफू चक्कर हो गए। एक पुराने फ़ोन से उन्होंने 112 पर पुलिस को सूचना दी लेकिन मौके पर लगभग आधे घंटे बाद पहुंची पुलिस खाना-पूर्ती कर वहां से चले गए।

गौरतलब है की जब सुबह सम्बंधित पुलिस चौकी पहुंचे तो चौकी प्रभारी ने उल्टा उन्हें ही सुना दिया कि “आप अपने सामान का ध्यान नहीं रख सकते और पुलिस के पास क्या अब यही काम बचा है ? ” जब पीढ़ित ने एफआईआर दर्ज करने की प्रार्थना की तो उनको यह कहते हुए टाल दिया की आज संडे है कल दर्ज की जाएगी आपकी शिकायत। निरंजन सिंह व उनकी पत्नी खुद ही भूखे प्यासे तलाश में लग गए और पास ही में लगे सीसीटीवी कैमरे की मदद यह खुद ही पता किया और वीडियो में यह पता चला की पास में ही स्थित ब्लॉक-बी शास्त्रीपुरम राज पब्लिक स्कूल में वो चोर जाते दिखाई दिए। पीढ़ित यह वीडियो लेकर जब पश्चिम पूरी चौकी पहुंचे तो चौकी प्रभारी वीर सिंह यादव टाल-मटोल करते रहे और बहुत पीछे पड़ने पर वो गए तो लेकिन स्कूल में देख-रेख कर रही महिला से न ही पूछताछ की और न ही इस मामले को गंभीरता से लिया। पीढ़ित पति-पत्नी ने चौकी प्रभारी से निवेदन करते हुए कहा कि राज पब्लिक स्कूल में लगे कैमरे से साफ़ पता चल सकता है की वो चोर स्कूल में कहाँ छिपे थे। लेकिन हर बार की तरह इस बार भी उनकी बात को दर-किनार कर दिया। मजबूरी में पीढ़ित निरंजन व उनकी पत्नी को नया सिम कार्ड लेने के लिए ऑनलाइन एफआईआर करानी पड़ी।

पुलिस स्टेशन हरीपर्वत, आगरा

15 दिनों के भीतर ब्लॉक-बी में हो चुकी हैं 3 चोरियां, लोगों में है डर

आपको बताते चले की बीते 15 दिनों में इसी इलाके में 3 चोरियां हो चुकी हैं। इन सबके बावजूद चौकी प्रभारी वीर सिंह यादव ने चोरी के इस मामले को नज़र अंदाज़ कर दिया। वहीँ इलाके के लोगों की माने तो उनका कहना है कि चोर आस-पास के हो सकता है लेकिन पुलिस के इस लचर रवैय्ये से मायूस भी हैं। खबर लिखे जानते तक पुलिस की किसी भी तरह की कोई मदद नहीं मिली है उन्हें और निरंजन व उनकी पत्नी से बात कर यह पता चला है की वो अब क्षेत्र के सीओ व एसपी आगरा के पास अपनी फरियाद लेकर जायेंगे। अब देखने वाली बात यह है कि आगरा पुलिस ऐसे मामलो को किस तरह लेती है और क्या पीढ़ित निरंजन व उनकी पत्नी की सुनवाई होती है या नहीं ?

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close
Close