Subscribe Now

* You will receive the latest news and updates on your favorite celebrities!

Trending News

News Article

Breaking News

केंद्र सरकार द्वारा चीनी ऐप्स पर पाबंदी आर्थिक आजादी के लिए एक बड़ा कदम – कैट 

केंद्र सरकार द्वारा चीनी ऐप्स पर पाबंदी आर्थिक आजादी के लिए एक बड़ा कदम – कैट

कैट ने सरकार से भारतीय स्टार्टअप्स में चीनी निवेश की जांच किये जाने की मांग की

एम् निजामुद्दीन
नई दिल्ली – केंद्र सरकार द्वारा 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबन्ध लगाने को देश की सुरक्षा और भारतवासियों की निजता की सुरक्षा के लिए एक आवश्यक कदम बताते हुए कनफेडेरशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस बहुत बड़े कदम के लिए साधुवाद दिया है ! इसी क्रम ने कैट ने आज प्रधानमंत्री मोदी से आग्रह किया है की भारत के जिन स्टार्टअप्स में चीनी कंपनियों का निवेश है उन सभी स्टार्टअप्स के कार्यकलापों की गहन जांच की जाए और यह देखा जाए की इन स्टार्टअप्स के जरिये भी तो कोई डाटा चीनी निवेशकों को उपलब्ध तो नहीं हो रहा है और उससे देश की सुरक्षा को कोई खतरा तो नहीं है ! कैट ने यह भी कहा की जिन चीनी कंपनियों ने भारत में अपना मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाया है उनकी भी जांच होनी चाहिए की जो डाटा उनके पास है वो कहीं चीन तो नहीं भेजा जा रह या उसका कोई गलत उपयोग तो नहीं हो रहा है !

इस सम्बन्ध में कैट ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीथारमन,केंद्रीय सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद तथा केंद्रीय वाणिज्य मंत्री पियूष गोयल को आज एक पत्र भेजकर आग्रह किया है की भारत में अनेक स्टार्टअप्स में चीनी कंपनियों का बड़ा निवेश है जिसमें प्रमुख रूप से फ्लिपकार्ट, पेटीएम मॉल, पेटीएम .कॉम, स्विगी, ओला, ओयओ , जोमाटो, पोलिसीबाज़ार, बिगबास्केट,डेल्हीवरी, मेक माय ट्रिप, ड्रीम 11 ,हाईक, स्नैपडील, उड़ान, लेंसकार्ट.कॉम ,बीजूस क्लासेज,साइट्रस टेक आदि बड़ी संख्यां में अनेक स्टार्टअप्स कंपनियां शामिल हैं और इनमें उनके कंपनियों में चीनी कंपनियां खासतौर पर अलीबाबा, टेनसेंट एवं अन्य लीड निवेशक हैं !

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने करनेजी वॉइस न्यूज़ एजेंसी को बताया की जब प्रधानमंत्री मोदी के ” लोकल पर वोकल” और ” आत्मनिर्भर भारत” आव्हान पर सरकार ने इसे एक वास्तविक रूप देने में जरूरी बड़े कदम उठा कर अपने मजबूत इरादे स्पष्ट कर दिए हैं, भारतीय सैनिकों ने सीमाओं पर मोर्चा खोल दिया है , देश भर में व्यापारियों ने चीनी वस्तुओं को न बेचे जाने का संकल्प लेना शुरू कर दिया है ऐसे में अब देशवासियों को भी खुलकर देश के हर कोने में चीनी वस्तुओं को न ख़रीदे जाने का संकल्प लेना शुरू कर देना चाहिए और चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के कैट के राष्ट्रीय अभियान ” भारतीय सामान -हमारा अभिमान ” को खुला समर्थन देते हुए किसी भी कीमत पर कोई चीनी वस्तु नहीं खरीदनी चाहिए ! श्री भरतिया एवं श्री खंडेलवाल ने कहा की इस वर्ष की दिवाली को विशुद्ध रूप से हिन्दुस्तानी दिवाली के रूप में मनाने के लिए कैट ने एक विशेष त्यौहार केंद्रित अभियान शुरू करने का निर्णय लिया है !

कैट ने कहा की देश में कुछ तथाकथित बुद्धिजीवी हैं जो टीवी चैनल पर बहस में अथवा मीडिया में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार को असंभव बताएँगे या फिर सरकार के क़दमों को चीन पर देश की निर्भरता को लेकर हाय-तौबा मचाएंगे , भारत इस समय सक्षम नहीं है इसका रोना रोयेंगे, देश को आगा-पीछा सोच कर कदम उठाना चाहिए और इसी तरह की अनेक अनर्गल बातें कर देशवासियों का मनोबल तोड़ने की बात करेंगे , ऐसे लोगों का भी बहिष्कार किया जाना जरूरी है ! यह समय देश की सम्प्रभुता, अखंडता एवं आर्थिक आजादी के लिए सरकार के साथ मजबूती से खड़े होने का है और मौटे तौर पर सारा देश प्रधानमंत्री श्री मोदी के साथ मजबूती से खड़ा है

Related posts

Leave a Reply

Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.