Breaking NewsCrime

पत्रकार प्रियांशू के परिवार पर हमले का केस; पुलिस ने पेश की चार्जशीट

प्रियांशू न्यूज वेबसाइट ‘ग्राउंड रिपोर्ट’ के दिल्ली कॉरेस्पोंडेंट हैं

एसपी बहराइच नानपारा कोतवाली को कर चुके थे तलब

कोमल बड़ोदेकर

नानपारा, बहराइच। नानपारा कोतवाली ने पत्रकार प्रियांशू (26) के माता-पिता पर हमले के मामले में शुक्रवार को मजिस्ट्रेट के सामने चार्जशीट पेश कर दी। 13 जून को चार लोगों ने मिलकर मीडियाकर्मी के परिवार पर हमला कर दिया था। घटना भवनियापुर-रामगढ़ी गांव की है, जहां प्रियांशू के पिता मकान बनवा रहे थे। चार्जशीट में उन सभी आरोपियों के नाम शामिल हैं, जिन्हें पीड़ित पक्ष ने एफआईआर में नामजद कराया था। मुख्य आरोपी राकेश है, बाकी तीन अभियुक्त लाला, मुकेश और बाबू हैं। चारों सगे भाई हैं।

चारों के खिलाफ धारा 323 (एक वर्ष तक की सजा या जुर्माना या दोनों), 504 (दो वर्ष कारावास या जुर्माना या दोनों) और 452 ( अधिकतम 7 साल तक की जेल+जुर्माना) लगाई गई है। पत्रकार के परिवार पर हमले की सूचना मिलते ही नानपारा कोतवाली हरकत में आ गई थी। चार्जशीट दाखिल करने का 90 दिन का समय होता है पर पुलिस ने सिर्फ 20 दिन में अपनी जांच पूरी कर चार्जशीट दाखिल कर दी।

पत्रकार प्रियांशू के परिवार पर हमले के केस में एसपी (पुलिस अधीक्षक) बहराइच डॉ. विपिन कुमार मिश्र  नानपारा कोतवाली को 24 जून को ही तलब कर चुके थे। उन्होंने नानपारा कोतवाली को 4 जुलाई तक का अल्टीमेटम दिया था जिस पर पुलिस ने नियत तिथि से 8 दिन पहले की अपनी रिपोर्ट पुलिस अधीक्षक को भेज दी थी।


तमाम मीडिया संस्थानों से जुड़े पत्रकारों ने लिखा था पत्र

पत्रकार प्रियांशू के परिवार पर हमले के मामले में कार्रवाई के लिए 17 जून को आज तक, एनडीटीवी, एबीपी न्यूज, द वायर, नेटवर्क-18, ईटीवी भारत और अमर उजाला समेत देश की 13 प्रमुख मीडिया संस्थाओं से जुड़े पत्रकारों ने एसपी बहराइच को पत्र लिखा था। पत्र लिखने वालों में सुप्रीम कोर्ट और लखनऊ हाईकोर्ट के वकील भी थे।

मुख्य अभियुक्त राकेश

मुख्य अभियुक्त राकेश मटेरा थाने में बावर्ची था। पत्रकार प्रियांशू का कहना है कि गांव वालों को वह इसी की धौंस दिखाता घूमता था। पत्रकार के परिवार पर हमले की जानकारी मिलते ही मटेरा थानाध्यक्ष शेषमणि पांडेय ने राकेश को हटा दिया था। मटेरा थानाध्यक्ष का कहना है कि वे राकेश को दोबारा काम पर नहीं रखेंगे। ऐसे प्रवृत्ति के
लोगों के लिए उनके यहां जगह नहीं है।

मीडियाकर्मी प्रियांशू चार साल से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पत्रकारिता कर रहे हैं। वह अमर उजाला और राजस्थान पत्रिका जैसे अखबारों में काम कर चुके हैं। पिछले दिनों उन्होंने अपनी नई पारी न्यूज वेबसाइट ‘ग्राउंट रिपोर्ट’ के साथ बतौर कॉरेस्पोंडेंट शुरू की है।

(कोमल बड़ोदेकर पत्रकारिता की प्रतिष्ठित संस्था भारतीय जनसंचार संस्थान (आईआईएमसी) के पूर्व छात्र हैं और दिल्ली में पांच साल से मीडियाकर्मी हैं। वह इस मामले को पहले दिन से फॉलो कर रहे हैं।)


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close
Close