News

ध्वस्त हो चुके खड़ंजा कीचड़ मार्ग पर धान की रोपाई करके किया संकेतिक विरोध प्रदर्शन……


ध्वस्त हो चुके खड़ंजा कीचड़ मार्ग पर धान की रोपाई करके किया संकेतिक विरोध प्रदर्शन……

बहराइच :(NOI) : जिले के जरवल विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत हरचंदा निवासी इसरार अहमद उर्फ पप्पू भैय्या समाजसेवी के नेतृत्व में हरचंदा के उत्तरी भाग में मौलबी पुरवा गांव को जाने वाले मार्ग पर एक दर्जन से अधिक लोगों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धान की रोपाई करके किया सांकेतिक विरोध प्रदर्शन और जिलाधिकारी बहराइच को पत्र भेजकर तत्काल ध्वस्त हो चुके मार्ग को पेंटिंग रोड बनाने की मांग किया।

प्रदर्शन का नेतृत्व करते हुए इसरार अहमद उर्फ पप्पू भैय्या ने आक्रोश प्रकट करते हुए कहा कि उत्तरी हरचंदा से मौलबी पुरवा गांव तक एक किलोमीटर पूरा खड़ंजा मार्ग जलमग्न व कीचड़ युक्त हो चुका है तथा मौलबी पुरवा से बदलू मड़हा तक एवं नदी के उस पार प्राथमिक विद्यालय से लेकर लोहारन पुरवा तक एंव मौलवी पुरवा में आलम के घर से ईदगाह कब्रिस्तान से होते हुए सर्वजनिक वितरण प्रणाली तक जलभराव रहता है। ऐ सभी मार्ग पूरी तरीके से ध्वस्त हो चुके है। जिससे मार्ग पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं और लोगों को आने-जाने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इस विकट समस्या के लिए कई बार लिखा पढ़ी करने के बावजूद भी अभी तक प्रशासन ने इन सभी ध्वस्त मार्गों को बनाने का काम नहीं किया है। जिससे आजिज होकर आज अपने कई साथियों के साथ मिलकर कच्चे मार्ग पर धान की रोपाई करके मजबूर होकर प्रदर्शन करना पड़ा है।

आक्रोशित होकर महताब खान ने कहा कि 1985 से पूरे गांव का विद्युतीकरण किया गया था। लेकिन आज तक जर्जर हो चुके तारों को बदलने का काम नहीं किया गया है। जिससे आए दिन घटनाएं होती रहती हैं। इसलिए तत्काल समय रहते हुए इन सभी जर्जर तारों को बदला जाए और बुढ़नपुर गांव से हरचंदा की ओर 11000 विद्युत लाइन जो आई है वह काफी तार ढीले होने के कारण नीचे आ चुकी है। जिससे भविष्य में कोई हादसा हो सकता है। इसलिए समय रहते हुए तत्काल उन सभी तारों को खिंचाव करके ठीक कराया जाए।

सांकेतिक प्रदर्शन करने के उपरांत सभी लोगों ने एक मांग पत्र जिलाधिकारी बहराइच को प्रेषित किया।

इस मौके पर- तौकीर खान, महबूब अली, सईद अहमद, मुकीम खान, छक्कन अहमद, रियाज कुरेशी, जियाउद्दीन अहमद, शालिग्राम यादव, शिव कुमार कोरी, सतनाम यादव, कुसमा देवी गौतम, मुन्नी देवी गौतम, सहित आदि लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Close
Close