नई दिल्ली। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की स्थिति बिगड़ती जा रही है। उनके स्वास्थ्य में कोई बदलाव नहीं देखा गया है। पूर्व राष्ट्रपति की हालत इस कदर खराब हो गई है कि उनके फेफड़ों में संक्रमण हो गया है। डॉक्टरों ने उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा है। अस्पताल ने इसकी जानकारी दी है। दिल्ली स्थित सेना के रिसर्च एंड रेफरल अस्पताल में भर्ती 84 वर्षीय पूर्व राष्ट्रपति की चिकित्सा निगरानी के लिए डॉक्टरों की टीम लगी हुई है।

बुधवार को अस्पताल ने प्रणब मुखर्जी की सेहत को लेकर जानकारी देते हुए कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की चिकित्सा स्थिति में गिरावट आई है, क्योंकि उनके फेफड़ों में संक्रमण की विशेषताएं विकसित हुई हैं। फिलहाल उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है और विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा उनका इलाज किया जा रहा है।

इससे पहले, मंगलवार को भी उनकी हालत में किसी तरह का बदलाव नहीं आया। अस्पताल ने बताया था कि उनकी हालत लगातार गंभीर बनी हुई है। उनके वाइटल और क्लिनिकल पैरामीटर स्थिर हैं। उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया है और उनकी हालत पर गंभीरता से नजर रखी जा रही है।

दिल्ली स्थित सैन्य अस्पताल ने रविवार को उनके स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए कहा था कि उनके क्लिनिकल पैरामीटर और वाइटल स्थिर हैं और उन्हें लगातार वेंटिलेंटर सपोर्ट पर रखा गया है। वे पहले से ही कई बीमारियों से ग्रस्त हैं। उनकी स्वास्थ्य स्थिति पर विशेषज्ञों द्वारा कड़ी नजर रखी जा रही है।

वहीं उनके बेटे अभिजीत बनर्जी ने कहा था, ‘वह पिछले दिनों की तुलना में अब पहले से ज्यादा बेहतर और स्थिर हैं। उसके सभी वाइटल पैरामीटर स्थिर हैं और उनपर उपचार का सकारात्मक प्रभाव दिख रहा है। हमें दृढ़ता से विश्वास है कि वह जल्द ही हमारे पास वापस आ जाएंगे।

 

 

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.