reporters
Breaking News
डीएम ने किया महाराज सिंह व तारा महिला इण्टर कालेज का औचक निरीक्षणएयरटेल पेमेन्ट्स बैंक मर्चेंट पार्टनर्स को प्रदान करेगा भुगतान का आसान अनुभवघर से करें माता वैष्णो देवी की लाइव आरती व दर्शन, प्रसाद आ जाएगा घरजय प्रकाश पाल की हत्या के विरोध में आज दिनांक 19-10-2020 को पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं मटेरा विधायक यासिर शाह के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर में जोरदार विरोध प्रदर्शन कियाअल-मुस्तफा स्काउट्स-बहराइच की तरफ से एक इमाम हुसैन अलैहिस्सलाम रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया जिसमे मुस्लिम समुदाय के लोगो ने बढ़ चढ़ के हिस्सा लिया और एक मिशाल कायम की

अर्थव्यवस्था पर राहुल ने सरकार को घेरा, कहा- जो मैं महीनों से बोल रहा था उसे आरबीआई ने माना

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था को लेकर एक बार फिर मोदी सरकार को घेरा है। कांग्रेस नेता का कहना है कि वे जिस खतरे के बारे में कई महीनों से आगाह कर रहे थे, उसे अब भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भी माना है।

राहुल ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, ‘आरबीआई ने अब पुष्टि कर दी कि जिसकी मैं महीनों से चेतावनी दे रहा हूं। सरकार को अब ज्यादा खर्च करने की जरूरत है, कर्ज देने की जरूरत नहीं है। गरीबों को पैसा दें, उद्योगपतियों का टैक्स मत माफ कीजिए। खपत के जरिए अर्थव्यवस्था को दोबारा शुरू करें। मीडिया के जरिए ध्यान भंग करने से न तो गरीबों की मदद होगी और न ही आर्थिक आपदा गायब होगी।

अपने ट्वीट के साथ राहुल गांधी ने एक अखबार की खबर को शेयर किया है, जिसमें आरबीआई की रिपोर्ट के बारे में लिखा है। रिपोर्ट में बताया गया है कि देश में खपत को गंभीर झटका लगा है। गरीब को ज्यादा नुकसान पहुंचा है। ऐसे में अर्थव्यवस्था को पटरी पर लौटने में काफी समय लगेगा।

रिपोर्ट में बताया गया है कि सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में जो कटौती की है उससे निवेश को बढ़ावा नहीं मिला है बल्कि कंपनियों ने इसका इस्तेमाल कर्ज घटाने और कैश बैलेंस करने में किया है। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण लंबे समय तक देश में लॉकडाउन लागू रहा। इससे देश की अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.