सीतापुर-अनूप पांडेय/NOI-उत्तरप्रदेश के सीतापुर में जिनके के हाथों में शांति व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रखने की जिम्मेदारी होती है वहीं अगर अशांति फैलाने लगे तो समाज के लोग कहां जाएंगे कुछ ऐसा ही मामला सीतापुर जनपद के पिसावा थाने क्षेत्र के रमवापुर गांव पथरी का है प्रार्थी जीतराम ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए बताया कि बी बी ए द्वतीय वर्ष का छात्र हूँ कुछ लोग गांव में शराब बनाने का अवैध काम करते हैं विपक्षी शराब के नशे में धुत तो कर प्रार्थी के घर के सामने भद्दी भद्दी गालियां आए दिन दिया करते थे जिससे परिवार की महिलाएं बच्चे बहुत परेशान होकर समझाने का प्रयास किया गया तो मारपीट कर जान से मारने की धमकी दे डाली जिसकी लिखित सूचना प्रार्थी ने थाने में दिया मगर ग्राम प्रधान विपक्षी पुलिस की मिलीभगत से प्रार्थी छात्र पर ही शराब का कारोबार करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

पीड़ित क्षात्र जीतराम का आरोप है कि पुलिस और ग्राम प्रधान की मिलीभगत से हमारे परिवार का उत्पीड़न किया जा रहा है अवैध शराब बिक्री का मुकदमा लिख कर ₹5000 की रिश्वत लेकर थाना अध्यक्ष ने प्रार्थी क्षात्र को छोड़ा वही पीड़ित को थाने पर न्याय ना मिलने पर पूरे परिवार करीब 20 लोग हम एसपी के पास न्याय की गुहार लगाई है अगर एसपी सीतापुर द्वारा कार्यवाही नहीं की गई तो हम लोग धरना देंगे या आत्महत्या कर लेंगे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.