सीतापुर -अनूप पाण्डेय, अरुण शर्मा /NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर के पिसावां केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना स्वच्छ भारत मिशन के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में बन रहे शौचालयों में हो रही धांधली की शिकायतों का दौर जारी है गुणवात्ताविहीन व मानक विपरीत शौचालयों के निर्माण से ग्रामीण जनता में रोष व्याप्त है।आए दिन शौचालयों में जारी गडबडी की शिकायतों को लेकर ग्रामीण अधिकारियों के कार्यालयों के चक्कर लगा रहे हैं।ऐसा ही एक मामला मिश्रिख ब्लाक के भुलभुलपुरवा गांव में
प्रकाश में आया है।जंहा पर एक पीड़ित व्यक्ति ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर जांच किए जाने की मांग की है
विकास खण्ड मिश्रिख के ग्राम पंचायत रामपुर मुड़ा के भुलभुलपुरवा निवासी रमाकांत पुत्र गोबरे ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय बनवाए जाने को लेकर अनुदानित राशि को लाभार्थियों को सीधे ना देकर बल्कि उक्त शौचालयों को ठेकेदारी प्रथा पर बनवाया जा रहा है।आरोप है कि ठेकेदारी प्रथा पर शौचालयों का निर्माण कार्य बेहद ही मानक विपरीत व गुणवात्ताविहीन किया जा रहा है आरोप है कि ग्राम प्रधान द्वारा शौचालयों के निर्माण कार्य में घोर अनिमितता की जा रही है।पीड़ित ने शौचालय निर्माण में हो रही अनिमितता की लिखित शिकायत जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी से मामले की जांच कर कार्रवाई की मांग की है।इस दौरान शिकायतकर्ता में रामऔतार,सरला देवी,राजेन्द्र,लाल जी आदि मौजूद रहे।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.