reporters
बांगरमऊ ने गोरे अंग्रेजों को भगाया था अब काले अंगेजों को भगाना है

बांगरमऊ ने गोरे अंग्रेजों को भगाया था अब काले अंगेजों को भगाना है

बांगरमऊ. कांग्रेस वर्किंग कमेटी उत्तर प्रदेश के प्रभारी प्रमोद तिवारी ने बुधवार को बांगरमऊ पहुंचकर पार्टी की उम्मेदवार आरती बाजपेई के समर्थन में जनसभा की और जनता से उनके पक्ष में मतदान करने की अपील की.

प्रमोद तिवारी ने कहा, “बांगरमऊ मेरे लिए तो घर, मेरा परिवार है और आरती जी मेरे लिए परिवार की सदस्य. जब अंग्रेजों का राज था तो उन्नाव जिले से चंद्रशेखर आज़ाद ने ही गोरे अंग्रेजों संदेश दिया था भारत छोड़ने का. इस चुनाव में बांगरमऊ की धरती से अब काले अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई शुरू होनी चाहिए. काले अंग्रेज़ ई और नहीं बल्कि वह विचारधारा है जो इस समय देश पर राज कर रही है.”

उन्होंने किसानों और महिला सुरक्षा के मुद्ददे पर भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा, “ पूंजीपति कमाने के लिए होता है। सरकार आम जनता के कल्याण के लिए होती है. सूखा पड़ गया या बाढ़ आ गई तो फिर सरकार की जिम्मेदारी होती है कि किसान जिंदा रहे और उसके लिए उसको न्यूनतम समर्थन मिलता रहा है. इस बार जनता को क्या करना है कि इस चुनाव में फैसला करना है. हाथरस बुलंदशहर बलरामपुर, बाराबंकी बागपत प्रयागराज आजमगढ़ वाराणसी इस हफ्ते में 13 बलात्कार हुए. बेटी जब घर के बाहर जाती तो मां-बाप ही सोचते सुरक्षित लौट आए. इससे पता चलता है कि कानून व्यवस्था कैसी है?

प्रमोद तिवारी ने कहा, “ इतने दिनों के संसदीय जीवन में मैंने नहीं देखा कि मां गुहार लगाती रहे कि हमको आखिरी बार देख लेने दो बेटी को, लेकिन क्या ऐसा करने से सरकार हिल जाती है. ताऊ ने कहा बेटी का चेहरा देख लेने दो, उनको डीएम ने लात मारा. क्या मां-बाप का अधिकार अपनी बेटी के अंतिम समय उसका चेहरा देखने का है या नहीं? सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा कि फंडामेंटल राइट्स सिर्फ जीवित व्यक्ति का नहीं होता, जो मर जाता है उसकी बॉडी का भी फंडामेंटल राइट होता है. हिंदू हो या मुसलमान हो सबका ससम्मान अंतिम संस्कार होना चाहिए.”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.