reporters
हृदय को सेहतमंद रखने के साथ कई लाभ भी देता है प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स

हृदय को सेहतमंद रखने के साथ कई लाभ भी देता है प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स

लखनऊ। प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स न सिर्फ आपके हृदय को सेहतमंद रख सकते है बल्कि ही सेहत से जुड़े फायदे भी होते हैं। विषेशज्ञों के मुताबिक भारत में एक नया एंटीऑक्सीडेंट गामा ओरिजनोल काफी प्रसिद्ध हो रहा है, जो कि राइस ब्रान (चावल के चोकर) से मिलता है। सर्दियां दस्तक दे चुकी है ऐसे मौसम में लोग खाने-पीने का भरपूर लुत्फ उठाते हैं लेकिन इस बार कोरोना काल के चलते ठंड के इस मौसम में खासतौर पर सेहत का ध्यान रखना बहुत जरूरी हो गया है दरअसल कोरोना का प्रभाव हृदय संबंधी बीमारियों से ग्रस्त लोगों को जल्दी होता है इसलिए सभी को अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने और दिल की सेहत का ख्याल रखने के लिए ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के डाइटेटिक्स विभाग की सीनियर डाइटिशियन डॉ. स्वप्ना चतुर्वेदी के अनुसार, “गामा ओरिजनोल ऐसा प्राकृतिक एंटी ऑक्सीडेंट है, जो राइस ब्रान (चावल के चोकर) में मिलता है। ये उच्च कोलेस्ट्रोल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को नियंत्रित करने में सहायक है साथ ही ये दिल की सेहत को बेहतर बनाए रखता है और रजोनिवृत्ति (मेनोपॉसल) लक्षणों को भी नियंत्रित करता है गामा ओरिजनोल कोलेस्ट्रोल को कम करने में मददगार है क्योंकि कोलेस्ट्रोल के अवशोषण को घटाता है और कोलेस्ट्रोल को कम करता है इसके अलावा इस एंटीऑक्सीडेंट को मेटाबोलिक रेट बढ़ाने के लिए जाना जाता है और ये वजन कम करने में भी मदद कर सकता है। जबकि गुरुग्राम के मेंदाता द मेडिसिटी के इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी विभाग के हेड डॉ. प्रवीण चंद्रा ने कहा, “दिल की अच्छी सेहत के लिए उच्च कोलेस्ट्रोल के स्तर को नियंत्रित रखना बहुत महत्वपूर्ण है गामा ओरिजनोल एक ऐसा प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट है जो बुरे कोलेस्ट्रोल को कम करता है और अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है दरअसल प्लेटलेट्स इकट्ठा होकर थक्के का रूप ले लेते हैं और धमिनयों को ब्लॉक कर देते हैं जिससे दिल का दौरा हो सकता है गामा ओरिजनोल ऐसा एंटीऑक्सीडेंट है जो थक्का बनने से रोकता है।” इसी बात को ध्यान में रखते हुए विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेंट्स आपके हृदय को तो सेहतमंद रखते ही है साथ में इससे कई सेहत से जुड़े फायदे भी होते हैं ऐसा ही एक प्राकृतिक एंटीऑक्सीडेट गामा ओरिजनोल भारत में काफी लोकप्रिय हो रहा है और ये राइस ब्रान (चावल के चोकर) में प्राकृतिक रूप से मिलता है। ज््यादातर रिसर्च से पता चला है कि जिन लोगों में ज्यादा कोलेस्ट्रोल की मात्रा है, अगर वह गामा ओरिजनोल सप्लीमेंट लगातार लेते हैं तो बुरा कोलेस्ट्रोल (एलडीएल) और रक्त में मौजूद फैट्स, जिसे ट्राइग्लिसराइड्स कहते हैं, घटते हैं। गौरतलब है कि गामा ओरिजनोल, राइस ब्रान (चावल के चोकर) में पाया जाने वाला एंटी ऑक्सीडेंट है, जो खून में कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में मददगार है और साथ सेहत से जुड़े अन्य लाभ भी है। जब ये साबित हो गया है कि गामा ओरिजनोल शरीर में उच्च कोलेस्ट्रोल के स्तर को प्रभावी तरीके से कम करता है, इसी वजह से अमेरिका और जापान में हाइपरलिपिडिमिया (उच्च कोलेस्ट्रोल स्तर) के इलाज के लिए इसे प्राकृतिक दवाई के रूप में इस्तेमाल करने के लिए रजिस्टर किया है। सर्दियों में ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है और कोरोनेरी धमनिया सिकुड़ने लगती है, जिससे रक्त की सप्लाई कम होने लगती है। इसलिए जिन लोगों को दिल संबंधियां परेशानियां हैं, उन्हें सर्दियों में खासतौर से सतर्क रहने की जरूरत होती है। उन लोगों को नियमित रूप से कसरत करते रहना चाहिए और खानपान से लेकर कसरत के समय में बदलाव करना चाहिए ताकि ठंड के मौसम में बीमारियों को बढ़ने से रोका जा सके। नमक और पानी को कम किया जाता सकता है क्योंकि इस मौसम में पसीना नहीं आता। दवाइयों और सही खान-पान और कसरत जैसे रहन-सहन के तरीकों में बदलाव करके हृदय संबंधी रोगों के मरीज बेहतर तरीके से रह सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.