reporters

एक मार्च से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान ।

सीतापुर-अनूप पाण्डेय/NOI-उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर में दिमाग़ी बुखार एवं अन्य संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान एक मार्च से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा इसी क्रम में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय सभागार में शुक्रवार को ब्लाक स्तरीय प्रशिक्षकों का एक दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी वेक्टर बोर्न डॉ सुरेन्द सिंह की अध्यक्षता में की गई ।
इस अवसर पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सुरेंद्र सिंह ने बताया- स्वास्थ्य विभाग 12 अन्य विभागों नगर विकास, ग्राम्य विकास, बाल विकास एवं पुष्टाहार, कृषि, पशुपालन, दिव्यांग कल्याण, बेसिक शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, चिकित्सा शिक्षा, सिंचाई, पंचायतीराज,वाणिज्यकर एवं मनोरंजन तथा सूचना एवं जनसंपर्क के साथ समन्वय स्थापित कर दिमाग़ी बुखार व संचारी रोग पर प्रभावी नियंत्रण एवं क्षय उन्मूलन के लिए एक साथ मिलकर अभियान को चलाएंगे अभियान को सफल बनाने की तैयारी स्वास्थ्य विभाग ने शुरू कर दी है । स्वास्थ्य विभाग को इस अभियान का नोडल बनाया गया है ।


कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुरेन्द्र सिंह ने बताया- इस अभियान को सफल बनाने में ए.एन.एम, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान है और उनका मार्च के पहले सप्ताह में संवेदीकरण किया जायेगा । उन्हें मातृ समूह की बैठक का आयोजन, समय समय पर स्कूलों का भ्रमण और शिक्षकों को बच्चों में जागरूकता बढ़ाने में मदद करना, दिमागी बुखार पर स्वयं सहायता समूहों की बैठक करना, मातृ बैठकों का आयोजन करना, ग्राम स्वास्थ्य स्वच्छता एवं पोषण समिति की बैठकों का आयोजन करना एवं पेय जल को साफ़ करने के लिए क्लोरीनेशन का डेमो आयोजित करना आदि विषयों पर प्रशिक्षण दिया जायेगा । जिले में …दस्तक अभियान के तहत 10 मार्च से 24 मार्च के बीच आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर संचारी रोगों रोगों से बचाव के लिए तथा मच्छर पर वार के बारे में लोगों को जागरूक करेंगी । इस बार दस्तक अभियान में ए.एन.एम, आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर जन समुदाय को संचारी रोगों से बचने के लिए जानकारी और जागरूकता सर्वेक्षण के साथ हर घर पर क्षय रोग के संभावित रोगियों की जनकारी भी एकत्र करनी है । यदि कोई संभवित रोगी मिलता है तो रोगी का नाम, पता और मोबाइल नम्बर आदि जानकारी फार्मेट में एकत्र की जायेगी । दिमागी बुखार के कारण दिव्यांग हुए लोगों और कुपोषित बच्चों की सूचना एकत्र की जायेगी । प्रतिदिन शाम को क्षेत्रीय ए.एन.एम के माध्यम से अभियान की रिपोर्ट ब्लाक स्तरीय प्राथमिक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजी जायेगी ।
अभियान के दौरान चिकित्सा विभाग का कार्य जन समुदाय को जागरूक करने के साथ ही यह पता करना है कि अगर कोई भी व्यक्ति दिमागी बुखार से प्रभावित पाया जाता है तो उसकी तुरंत जांच कर उपचार शुरू करें ।
नगर विकास विभाग का काम नालियों की सही तरीके से साफ़ – सफाई तथा सफाई के पश्चात कचरे का निस्तारण करना है ताकि गंदगी में मच्छर न पनपने पाए । नालियां अगर खुली हुई है तो उनको ढ़कने का कार्य करें । पंचायती राज विभाग के कार्यो के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया की ग्राम स्वास्थ्य , पोषण समिति की बैठक कर ग्रामीण लोगो को स्वच्छता के बारे में जागरूक करे और उन्हें साफ़ सफाई के महत्त्व के बारे में बताये । लोगों को जागरूक करें कि मच्छर के काटने से स्वयं को बचाएं और अगर बुखार की कोई भी समस्या है तो तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर उपचार कराये ।
मास्टर ट्रेनर जिला एपिडेमियोलोजिस्ट डा. विवेक सचान पावर प्रेजेंटेशन के माध्यम से संचारी अभियान की विस्तृत जानकारी ने बताया – कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी संचारी रोगों की रोकथाम के लिए प्रभावी उपाय अपनाते हुए एक से 31 मार्च के मध्य व्यापक विशेष संचारी नियंत्रण अभियान एवं 10 से 24 मार्च तक दस्तक अभियान चलाया जायेगा ।
इस अवसर पर जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी राजकुमार, सभी सीएचसी से दो चिकित्सा अधिकारी, सभी ब्लॉक के स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी, और ब्लाक समुदाय प्रक्रिया प्रबंधक मौजूद रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *