reporters
ट्रांसएशिया ने उत्तर प्रदेश को30 बीआईपीएपी वैंटीलेटर मशीन डोनेट की

ट्रांसएशिया ने उत्तर प्रदेश को30 बीआईपीएपी वैंटीलेटर मशीन डोनेट की

लखनऊ,मई 13, 2021: ट्रांसएशिया बायो-मेडिकल्स लिमिटे़ड, भारत का प्रमुख आईनीजी प्लेयर है जिसके लिए भारत सबसे पहले आता है। यह कोविद रोगियों के त्वरित निदान, और उपचार में विभिन्न राज्य सरकारों की सक्रीयतापूर्वक मदद कर रहा है।उत्तर प्रदेशराज्य की इस महामारी की दूसरी लहर में मदद करने के लिए ट्रांसएशिया ने उत्तर प्रदेशभर में विभिन्न कोविद-समर्पित अस्पतालों में स्थापित करने के लिए 30 बीआईपीएपी-वैंटीलेटर मशीन डोनेट की है। वर्तमान समय में इन मशीनों की उपलब्धता में भारी कमी होने के बावजूद ट्रांशएशिया ने ये मशीने अपने ग्लोबल वेंडर्स से खरीदी है। सुश्री कंचन वर्मा, आईएएस, प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश चिकित्सा आपूर्ति निगम लिमिटेड (UPMSCL), एक सरकार। उत्तर प्रदेश उपक्रम के, सुनील पाठक, मंडल व्यापार प्रमुख- मध्य क्षेत्र और यशपाल सिंह, उप। ट्रांसमासिया बायो-मेडिकल्स लिमिटेड
ट्रांसएशिया कोविद के गंभीर रोगियों में ब्लड क्लोटिंग पर नियंत्रण के काम में लाई जानेवाली अपनी कोंजूलेशन एनेलाइजर ईसीएल सिरीज भी बिना किसी शुल्क के उपलब्ध करवा रहा है जो डॉक्टरों को डी डाईमर की जाँच एवं दूसरे कोग्यूलेशन टेस्ट में काफी मददगार साबित होगी।

विजेरानी फाउंडेशन और ट्रांसएशिया के प्रति उत्तर प्रदेशसरकार को सहायता प्रदान करने के लिए अपना आभार व्यक्त करते हुए सुश्री कंचन वर्मा, आईएएस, एमडी, यूपीएमएससीएलने कहा, ‘‘ यह डोनेशन बहुत ही सामयिक है और कोविद का मुकाबला करने के लिए अत्यन्त लाभदायक सिद्ध होगा। ट्रांसएशिया द्वारा नॉन-एनवेसिव वैंटीलेशन उपलब्ध करवाना साँसों के लिए संघर्ष करते हुए कोविद-19 के रोगियों को इस वाइरस से जूझते समय बहुत ही मददगार साबित होगा। हम उत्तर प्रदेशमें इस महामारी से बचाव करने और इसकी खोज-खबर लेने और इससे बचने में सहायता करने के टांसएशिया के प्रयासों की मुक्तकंठ से सराहना करते हैं।

इस सहायता के सम्बन्ध में बोलते हए ट्रांसएशिया-इरबा समूह के फाउंडर और चेयरमैन श्री सुरेश वजीरानी ने कहा, ‘‘दूसरी लहर अत्यन्त विनाशकारी है और इसने हमारे देश के हैल्थकेयर सिस्टम पर आघात किया है। हम आशा करते हैं कि भारत में यह स्थिति शीघ्र ही काबू में होगी, परन्तु केवल आशा करने से काम नहीं चलेगा। ट्रांसएशिया भारत के स्वास्थ्य के प्रति समर्पित है और हमारे स्वल्प प्रयास के माध्यम से, हमारी इच्छा है कि हम गंभीर रूप से पीड़ितों और मदद के तलबगारों तक पहुँच सकें। यह तो वजीरानी फाउंडेशन के माध्यम से की जाने वाले कतिपय सहायतार्थ योजनाओं में से एक है, और हमारी अभिलाषा है कि हम हमारे संसाधनों और टैक्नोलोजी का इस्तेमाल, केन्द्रीय एवं राज्य स्वास्थ्य मंत्रालयों को उपलब्ध करवाना जारी रखेंगे।

ट्रांसएशिया बायो-मेडिकल्स लिमिटेड : 1979 में स्थापित ट्रांसएशिया बायो-मेडिकल्स लिमिटेड, भारत की अग्रणी इन-वर्टो डायग्नोस्टिक कम्पनी है, जो बायोकेमेस्ट्री, हैमाटोमॉलॉजी, कोग्यूलेशन, ईएसआर, इम्यूनोलॉजी, यूरीनएनालेसिस, क्रिटिकल केयर, डायबिटीज मेनेजमेंट, माइक्रोबायलोजी एंड मोलूक्यूलर डायग्लोस्टिक्स के लिए उत्पाद और समाधान उपलब्ध करवाता है। यह भारत भर में स्थापित 70,000+ उपकरणों के माध्यम से डॉक्टरों और रोगियों के भरोसेमन्द, किफायती और नवीकृत मेडिकल डायग्नोस्टिक सिस्टम उपलब्ध करवाता है। ट्रांसएशिया में 350+ सर्विस इंजीनियर्स, 400+ सेल्स एवं माक्टिंग टीम, 25 जोनल आफिसेज तथा 350+ वितरक दिन रात काम करते हैं। यह भारत की पहली कम्पनी है जो ब्लड एनलाइजर बनाती है और निर्यात करती है। इस माँग को पूरा करने के लिए यह अपने प्लांट में 500 और कर्मचारियों को नियुक्त करने जा रही है। पिछले दो वर्षों में, ट्रांशएशिया ने IVD उद्योग के लिए हैमाटोमोलॉजी एवं इम्यूनोलॉजी के कुछ नये उत्पादों की शुरूआत की है। इसके अतिरिक्त, ट्रांशएशिया के समस्त इन-वर्टो डायग्नोस्टिक इन्स्ट्रूमेंट्स मुम्बई में बनाये जाते हैं और अब यूएसएफडीओ से पंजीकृत हैं। अर्थात् ट्रांसएशिया ‘मेड इन इंडिया’ उत्पाद हैं जो 100 से अधिक देशों में निर्यात किये जाते हैं और अब अमेरीका में भी उपलब्ध होंगे।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *