reporters
फ्लिपकार्ट ने 23 हजार नये कर्मचारियों के<br>साथ अपनी सप्लाई चेन को बनाया मजबूत

फ्लिपकार्ट ने 23 हजार नये कर्मचारियों के
साथ अपनी सप्लाई चेन को बनाया मजबूत

ई-कॉमर्स सेवाओं की बढ़ती मांग को पूरा करने
के लिए अतिरिक्त कर्मचारियों को नौकरी पर रखा

लखनऊ । भारत का स्वदेशी मार्केटप्लेस फ्लिपकार्ट पूरे देश में सुरक्षित तरीके से उत्पादों को पहुंचाने के लिए अपनी सप्लाई चेन को मजबूत बना रहा है और इससे सप्लाई चेन में रोज़गार के नए अवसर भी पैदा हो रहे हैं। मार्च से मई 2021 के तीन महीनों में फ्लिपकार्ट ने पूरे देश में डिलीवरी एग्जीक्यूटिव्स सहित अपनी सप्लाई चेन से जुड़ी अलग-अलग जिम्मे्दारियों के लिए 23,000 लोगों को नौकरी पर रखा है। फ्लिपकार्ट में सप्लाई चेन के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट, हेमंत बद्री ने कहा फ्लिपकार्ट में हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है कि सुरक्षित और मजबूत सप्लाई चेन के ज़रिए ग्राहकों की ज़रूरतों को पूरा करने के साथ-साथ अपने कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाए। महामारी के कारण लोग अपने घरों में रह रहे है इसलिए देश भर में ई-कॉमर्स सेवाओं की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए सप्लाई चेन को मजबूत बनाने की ज़रूरत है और इससे रोज़गार के हजारों नए अवसर भी पैदा हो रहे हैं। सभी नए कर्मचारियों को हमारी हेल्थकेयर और वेलनेस पहल के तहत कवर किया जाएगा ताकि इस कठिन समय में उनकी सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके। कोविड-19 के दौरान अपने कर्मचारियों, ग्राहकों, विक्रेताओं और ईकोसिस्टम पार्टनर्स की सुरक्षा फ्लिपकार्ट की सर्वोच्च प्राथमिकता है। कंपनी अपने वेयरहाउसों में सुरक्षा के सख्त नियमों और प्रोटोकॉल का पालन कर रही है। इसके साथ ही कोविड के समय सुरक्षित व्यवहार अपनाने को लेकर जागरूकता अभियान भी चलाए जा रहे हैं। कंपनी अपनी सप्लाई चेन में अलग-अलग पदों पर रखे गए नए कर्मचारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम भी चला रही है। क्लासरूम और डिजिटल प्रशिक्षण के मेलजोल से उन्हें सप्लाई चेन मैनेजमेंट के बारे मं् समझाया जा रहा है। ये प्रशिक्षण फ्लिपकार्ट के अपने लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम (एलएमएस) के साथ-साथ व्हाट्सऐप, ज़ूम और हैंगआउट जैसे मोबाइल एप्लिकेशन के माध्यम से दिया जा रहा है। प्रशिक्षण के दौरान कस्टमर सर्विस, डिलिवरी, इंस्टॉलेशन और सुरक्षा व स्वच्छता उपायों के साथ-साथ हाथ से पकड़े जाने वाले उपकरणों, पीओएस मशीनों, स्कैनर, विभिन्न मोबाइल एप्लिकेशन्स और ईआरपी के बारे में सिखाया जाता है। उन्हें कोविड-19 से जुड़े सुरक्षा नियमों और प्रोटोकॉल्स के बारे में भी प्रशिक्षण दिया जाता है ताकि वे खुद के साथ-साथ ग्राहकों की सुरक्षा भी सुनिश्चित कर सकें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *