25 हजार सिपाहियों की भर्ती जल्द, DGP मुख्यालय ने पुलिस भर्ती बोर्ड को भेजा प्रस्ताव

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले युवाओं के लिए अच्छी खबर है। सीएम योगी के आदेश के बाद डीजीपी मुख्यालय ने पुलिस भर्ती बोर्ड को 25 हजार सिपाहियों की भर्ती करने का प्रस्ताव भेजा है।

उत्तर प्रदेश में तीस हजार सिपाहियों के पद फिलहाल खाली पड़े हैं। जिसके लिए भर्ती बोर्ड जल्दी नोटिफिकेशन जारी करने की योजना बना रहा है। वहीं कोटे और मृतक आश्रित के भी तकरीबन 5000 पद खाली पड़े हैं। जिन्हें भरने के लिए सरकार की ओर से बंपर भर्तियां निकलने वाली हैं।

डीजीपी मुख्यालय ने पुलिस भर्ती बोर्ड के माध्यम से खाली पड़े पदों पर 25000 सिपाहियों की भर्ती के लिए प्रस्ताव भेजा है। यह प्रस्ताव यूपी पुलिस में खाली पड़े पदों को मद्देनजर रखते हुए भेजा गया है। हालांकि मौजूदा समय में चल रही भर्ती की अन्य प्रक्रियाओं को देखते हुए चुनाव से पहले इन पदों पर भर्ती होने की संभावना काफी कम है।

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में पुलिस विभाग में अभी तकरीबन 100000 पद खाली पड़े हुए हैं, जिसमें तकरीबन 30000 पद सिपाहियों के हैं। इनमें चार से 5000 पद खेल कोटे और बाकी मृतक आश्रित कोटे के हैं। बाकी बचे पदों पर भर्ती के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। विधानसभा चुनावों से पहले यूपी में 74 हजार पदों पर भर्ती होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए भर्ती प्रक्रिया जल्द सम्‍पन्‍न करने को कहा है। उन्होंने दिया है यह काम पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता से होना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जुलाई की शुरुआत में ही उप्र लोक सेवा आयोग, उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग, उप्र उच्चतर शिक्षा चयन आयोग और उप्र माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्षों के साथ खाली पदों पर भर्ती के संबंध में बैठक की थी। बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा था कि भर्ती की प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ाया जाए और इसके लिए सम्पन्न की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाओं का आयोजन पारदर्शी ढंग से किया जाए। उन्होंने बड़ी परीक्षाओं को मण्डल स्तर पर और छोटी परीक्षाओं को जिला स्तर पर आयोजित करने करने के निर्देश दिए थे।

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश पुलिस में मौजूदा समय में 18000 सिपाहियों का प्रशिक्षण चल रहा है। इन सिपाहियों का प्रशिक्षण अगले वर्ष पूरा हो जाएगा। भर्ती बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया है कि भर्ती बोर्ड द्वारा अन्य भर्तियों की प्रक्रिया भी चल रही है। ऐसे हालातों में सिपाहियों की भर्ती जनवरी से पहले निकाल पाना मुश्किल लग रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × 4 =