reporters

​देना विद्यालय में बालिकाओं ने मनाया मीना जन्मोत्सव !

सीतापुर-अनूप पाण्डेय:NOI।
उत्तरप्रदेश जनपद सीतापुर में

आज ही के दिन 1998 में यूनीसेफ ने की थी कार्टून चरित्र मीना की शुरूआत

देना (सीतापुर) 24 सितम्बर। बालक-बालिकाओं में भेद मिटाने, बालिकाओं की अभिव्यक्ति क्षमता बढ़ाने, नेतृत्व की क्षमता तथा सहयोग की भावना विकसित करने के उद्देश्य से आज रविवार को परसेण्डी ब्लॉक के पूर्व माध्यमिक विद्यालय देना में मीना जन्मोत्सव दिवस उल्लास पूर्वक मनाया गया।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्राम प्रधान राम भरोसे ने की। उन्होने अपने उद्बोधन में कहा कि हमारे बच्चे देश का उज्ज्वल भविष्य हैं। विशेष रूप से देश की बच्चियाँ जो कि समाज में उपेक्षा का शिकार रहती हैं। उनकी शिक्षा-दीक्षा और लालन-पालन के साथ-साथ हमें उनके अधिकार देने पर गम्भीरता से विचार करना होगा, ताकि हमारी बच्चिाँ भी हमारे देश का नाम दुनिया भर में रोशन करने वाली बन सकें और उनमें छिपी प्रतिभायें देश और समाज के काम आ सके। 

राम भरोसे ने कहा कि विद्यालय स्तर पर मीना मंच का गठन एवं उसके द्वारा किये जा रहे क्रिया-कलाप हमारी बच्चियों के सफल जीवन के लिये अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि समाज में फैली कुरीतियों और बच्चियों के किशोरावस्था में जो समस्यायें आती हैं, उनके निराकरण में मीना मंच महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा। उन्होंने कहा कि विद्यालय का शैक्षिक वातावरण सुदृढ़ करने एवं छात्र-छात्राओं में आत्मविश्वास पैदा करने के लिये पूर्व माध्यमिक विद्यालय देना के सभी शिक्षक प्रशंसा के पात्र हैं।

    विद्यालय के प्रधानाध्यापक खुश्तर रहमान खाँ ने कार्यक्रम का संचालन करते हुए अपने उद्गार में कहा कि शासन की मंशानुरूप विद्यालय में मीना मंच का गठन किया गया है। यह मंच विशेष रूप से छात्राओं को शिक्षित करने के साथ-साथ उनमें आत्मविश्वास एवं उन्हें स्वालम्बी एवं नेतृत्वकर्ता बनाने के लिये प्रयास करता है। उन्होने कहा कि समाज की कुरीतियों को दूर कर बालक-बालिका में भेद को मिटाना और छात्राओं को आत्मनिर्भर और उनमें नेतृत्व क्षमता का विकास करना ही मीना मंच का मुख्य उद्देश्य है। 

खुश्तर रहमान खाँ ने कहा कि मीना एक कार्टून चरित्र है, जिसे आठ साल के व्यापक अनुसंधान के बाद यूनिसेफ द्वारा 24 सितम्बर 1998 शुरू किया गया था। भारत सहित अन्य कई देशों में मीना मंच द्वारा किशोरियों की विभिन्न समस्यों के निराकरण के साथ ही उनके जीवनेत्थान के सराहनीय प्रयास किये जाते है। प्रत्येक वर्श 24 सितम्बर को मीना का जन्म उत्सव पूर्वक मनाया जाता है जिससे किशोरियों का आत्मबल मजबूत होता है।

विद्यालय की शिक्षिका एवं मीना मंच की सुगमकर्ता किरन अवस्थी ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार विद्यालय में मीना मंच का गठन किया गया है जिसके माध्यम से गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा एवं मीना मंच के उद्देश्यों की पूर्ति के प्रयास लगातार जारी है।

    ज्ञातव्य है कि पूर्व माध्यमिक विद्यालय देना में कुल 89 छात्रायें एवं 64 छात्र अध्ययनरत हैं। मीना मंच का संचालन विद्यालय की छात्राओं द्वारा एक पाँच सदस्यीय समिति के माध्यम से किया जाता है। समिति की अध्यक्ष कक्षा आठ की छात्रा सुनैना यादव, सचिव दीप्तिी सिंह, कोषाध्यक्ष रमन सिंह कौर, सदस्य मंजू एवं सायबा बानो हैं। इस अवसर पर मीना मंच की पदाधिकारियों ने भी अपने विचार व्यक्त किये और मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किये गए। कार्यक्रम को सफल बनाने में युवराज, नवनीत, रजनीश, हरिओम, कन्हैया लाल, विद्याांशी, नाजिया बानो, आसमा, आदि छात्र-छात्राओं के प्रशंसनीय सहयोग से सफल रहा।

    मीना जन्मोत्सव के इस कार्यक्रम में शिक्षक परवेज अख्तर अयूबी, अनुदेशिका नीलम एवं प्रीतीपाल सहित गाँव समाज के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। 

                   

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.