28 C
Lucknow
Monday, July 15, 2024

93 ब्लास्ट केस: संजू बाबा को पांच साल की सजा, जाएंगे जेल

sdjailनई दिल्ली। मुंबई में 1993 में हुए सीरियल बम ब्लास्ट मामले में गुरुवार का दिन बेहद अहम रहा। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दोषी ठहराए गए सौ दोषियों के खिलाफ अपना फैसला सुनाया। वहीं अवैध रूप से हथियार रखने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने बॉलीवुड अभिनेता संजय दत्त को आ‌र्म्स एक्ट के तहत दोषी ठहराते हुए पांच वर्ष की सजा सुनाई है। संजय दत्त इस सजा के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी बैंच में अपील दायर करेंगे।

गौरतलब है कि वह इस अपराध के लिए लगभग डेढ़ वर्ष की सजा पहले ही काट चुके हैं। अब फैसले के बाद उन्हें साढ़े तीन वर्ष और जेल की सलाखों के अंदर गुजारने होंगे। फैसले के बाद अब संजय दत्त को चार सप्ताह के अंदर सरेंडर करना होगा।

संजय दत्त की पूरी कहानी के लिए क्लिक करें

फैसला सुनाने के दौरान संजय दत्त की बहन प्रिया दत्त कोर्ट में मौजूद थीं। फैसले के बाद वह काफी दुखी दिखाई दीं। वहीं संजय इस दौरान मुंबई में अपने घर पर ही मौजूद थे। कानून के जानकारों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद अब संजय के पास दो ही विकल्प हैं, पहला तो यह कि वह या तो सरेंडर कर बाकि बची साढ़े तीन साल की सजा को काट लें, दूसरा विकल्प है कि वह लार्जर बैंच के समक्ष इस फैसले के खिलाफ अपील दायर करें। फैसला सुनने के बाद प्रिया दत्त सीधे अपने दिल्ली स्थित सरकारी निवास चली गई। उन्होंने कहा कि वह इस वक्त कुछ नहीं कह सकती हैं।

तस्वीरों में देखें 1993 ब्लास्ट की दर्दनाक दास्तां

मुंबई के 1993 बम धमाके वाले मामले में कोर्ट के अन्य फैसले :-

– कोर्ट ने याकूब मेमन को हमले का सबसे बड़ा दोषी मानते हुए उसकी फांसी की सजा को बरकरार रखा है।

– कोर्ट ने याकूब को इन 1993 में मुंबई बम धमाकों का षडयंत्र रचने हथियार और धन मुहैया कराने का दोषी पाया है।

– कोर्ट ने अन्य दस दोषियों की फांसी की सजा को उम्रकैद में तबदील कर दिया है।

– कोर्ट ने बीस दोषियों में से सत्रह लोगों को मिली उम्रकैद की सजा को भी बरकरार रखा है।

– एक दोषी की उम्रकैद की सजा को दस वर्ष की सजा में तबदील कर दिया है।

– कोर्ट ने माना कि हमले के मास्टरमाइंड ने इन लोगों की मजबूरी और गरीबी का फायदा उठाकर यह सब काम करवाया था।

– कोर्ट ने दो लोगों को मामले से बरी कर दिया है।

– इस मामले में निचली अदालत ने कुल बारह दोषियों को फांसी की सजा सुनाई थी, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है।

– कोर्ट ने यह भी साफ कर दिया है कि वह सजा के खिलाफ कोई याचिका स्वीकार नहीं करेगी।

– कोर्ट में फैसले के बाद दुखी दिखाई दीं संजय दत्त की बहन प्रिया दत्त।

– टाडा कोर्ट के तहत संजय को अवैध हथियार रखने के जुर्म में छह वर्ष की सजा सुनाई थी।

– संजय दत्त इस मामले में 18 माह जेल में बिता चुके हैं।

– 12 मार्च 1993 को हुए मुंबई में 13 धमाकों में 257 की मौत हुई थी और 713 घायल हुए थे।

– टाडा कोर्ट ने इस मामले में 12 को फांसी और 20 को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी।

– टाडा कोर्ट ने नवंबर 2006 में अवैध तरीके से 9 एमएम की पिस्टल और एके-56 राइफल रखने के आरोप में दत्त को छह साल की सजा सुनाई थी, लेकिन मुंबई बम धमाकों की आपराधिक साजिश रखने के आरोप से बरी कर दिया था।

Latest news

- Advertisement -spot_img
Related news
- Advertisement -spot_img

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें